करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

गगनदीप कांग बनीं रॉयल सोसाइटी फेलो में शामिल की जाने वाली पहली भारतीय महिला वैज्ञानिक

भारत की जैव वैज्ञानिक गगनदीप कांग फेलो ऑफ़ द रॉयल सोसाइटी के 359 वर्ष के इतिहास में शामिल की जाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं। कांग को बच्चों में होने वाले संक्रमण के अनुसन्धान के लिए जाना जाता है। उन्होंने रोटावायरस तथा टाइफाइड के स्वदेशी टीके के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। गगनदीप कांग वेल्लोर के क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर हैं। वे वर्तमान में फरीदाबाद में ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट में कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्य कर रहीं हैं। 2016 में उन्हें जन स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने के लिए जीव विज्ञान में इनफ़ोसिस प्राइज से सम्मानित किया गया था।

फेलो ऑफ़ द रॉयल सोसाइटी

रॉयल सोसाइटी ऑफ़ लन्दन द्वारा गणित, इंजीनियरिंग विज्ञान तथा चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए फेलोशिप ऑफ़ द रॉयल सोसाइटी प्रदान की जाती है, यह एक प्रकार का पुरस्कार है। इसकी शुरुआत वर्ष 1663 में हुई थी। गौरतलब है कि अब तक यह फेलोशिप इसाक न्यूटन (1672), चार्ल्स डार्विन (1839), माइकल फैराडे (1824), अर्नेस्ट रदरफोर्ड (1903), श्रीनिवास रामानुजन (1918), अल्बर्ट आइंस्टीन (1921), सुब्रमन्यन चंद्रशेखर (1944), एलन टूरिंग (1951), स्टीफन हॉकिंग (1974), अजय कुमार सूद (2015), एलोन मस्क (2018) को प्रदान की जा चुकी है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Month:

Tags: , , , ,

नासा की पहली महिला अंतरिक्षयात्री उम्मीदवार जेरी काब का निधन हुआ

नासा की अंतरिक्षयात्री परीक्षण को पास करने वाली पहली महिला जेरी काब का निधन 88 वर्ष की आयु में हो गया है। 1961 में 13 महिलाओं ने अत्यंत कठिन शारीरिक परीक्षण को पास किया था, इन 13 महिलाओं को संयुक्त रूप से मरकरी 13 कहा जाता है। गौरतलब है कि इनमे से कोई भी महिला अन्तरिक्ष की यात्रा नहीं कर पायी। सोवियत संघ ने 1963 में वलेन्तीना तेरेश्कोवा को सर्वप्रथम पहली महिला के रूप में अन्तरिक्ष में भेजा।

जेरी काब

जेरी काब नासा की अंतरिक्षयात्री परीक्षण को पास करने वाली पहली महिला थीं। उनका जन्म 5 मार्च, 1931 को अमेरिका के ओक्लाहोमा में हुआ था। गौरतलब है कि 19 वर्ष की आयु में वे पुरुषों को हवाई जहाज़ उड़ाना सिखाती थीं। वे विश्व के सबसे बड़ी एयर शो “पेरिस एयर शो” में उड़ान भरने वाली पहली महिला थीं, इसके लिए उन्हें पायलट ऑफ़ द ईयर तथा एमेलिया ईअरहार्ट गोल्ड मैडल ऑफ़ अचीवमेंट प्रदान किया गया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement