करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

विलेज रॉकस्टार्स : असमी फिल्म होगी ऑस्कर 2019 के लिए भारत की आधिकारिक एंट्री

असमी फिल्म “विलेज रॉकस्टार्स” को ऑस्कर 2019 के लिए भारत की आधिकारिक प्रविष्टि चुना गया है। यह फिल्म 91वें अकादमी अवार्ड्स 2019 में “सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा” श्रेणी में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी। इसका चुनाव कन्नड़ फिल्म निर्माता-निर्देशक एस.वी. राजेन्द्र सिंह बाबु की अध्यक्षता में 12 सदस्यीय निर्णायक मंडल ने लिया।

मुख्य बिंदु

इस फिल्म का निर्देशन व संपादन रीमा दास द्वारा किया गया है। इस फिल्म का चित्रण असम के चयगाओ जिले में कलारदिया गाँव में किया गया है। इस फिल्म को 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में बेस्ट फीचर फिल्म का पुरस्कार मिला था। यह फिल्म 10 वर्षीय धूनु नामक लड़की पर आधारित है, जो गरीबी में जीवन व्यतीत करती है और उसका सपना खुद का रॉक बैंड शुरू करना है।

इस फिल्म को बनाने में चार वर्षों का समय लगा, इसके लिए छोटे कैमरा का उपयोग किया गया, इसका बजट काफी कम था। इस फिल्म के अधिकतर कलाकार कलारदिया के गाँव के लोग ही हैं, वे प्रोफेशनल कलाकार नहीं हैं।  इसका वर्ल्ड प्रीमियर टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में किया गया था। 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में इसे फिल्म को बेस्ट फीचर फिल्म के लिए ‘स्वर्ण कमल’ का पुरस्कार दिया गया था। इस फिल्म को तीन अन्य श्रेणियों में भी पुरस्कार मिले : सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार, सर्वश्रेष्ठ लोकेशन साउंड रिकार्डिस्ट तथा सर्वश्रेष्ठ संपादन।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

सीमा सर्वेक्षण के लिए भारत और नेपाल करेंगे सैटेलाइट चित्रों का इस्तेमाल

काठमांडू में आयोजित बाउंड्री वर्किंग ग्रुप की पांचवी बैठक में भारत और नेपाल ने सीमा सर्वेक्षण कार्य के लिए सैटेलाइट चित्रों के उपयोग करने पर सहमती प्रकट की है। बाउंड्री वर्किंग ग्रुप एक संयुक्त समूह है जिसका गठन भारत और नेपाल ने 2014 में सीमा स्तम्भ के निर्माण व मरम्मत इत्यादि से सम्बंधित कार्य के लिए किया था।

मुख्य बिंदु

बाउंड्री वर्किंग ग्रुप में देशों देशों ने ‘नो मेन्स लैंड’ के अतिक्रमण व सीमा पार कब्ज़े के मानचित्रण पर सहमती प्रकट की। इसके अलावा दोनों देशों ने विवादित भूमि पर खेती को लेकर यथास्थिति बनाये रखने पर सहमती प्रकट की। दोनों देशों ने उत्तराखंड के देहरादून में आयोजित चौथे बाउंड्री वर्किंग ग्रुप के परिणामों पर भी चर्चा की तथा दिशानिर्देशों के पालन को सुनिश्चित करने पर भी संहति प्रकट की।

भारत-नेपाल सीमा

भारत की 1,758 किलोमीटर सीमा नेपाल से लगती है। भारत के पांच राज्यों उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम की सीमा नेपाल से लगती है। यह सीमा खुली सीमा है, दोनों देशों के नागरिक एक-दूसरे देश में बिना पासपोर्ट व वीजा के प्रवेश कर सकते हैं। इसकी सुरक्षा सशस्त्र सीमा बल द्वारा की जाती है।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement