करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

23 सितम्बर : अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस

23 सितम्बर को अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य सांकेतिक भाषा के सन्दर्भ में जागरूकता फैलाना है। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा की थीम “सांकेतिक भाषा के साथ सभी शामिल हैं” ।

पृष्ठभूमि

अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस को मनाये जाने के प्रस्ताव विश्व बधिर संघ द्वारा रखा गया था। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने A/RES/72/161 के द्वारा दिसम्बर, 2017 में अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस की स्थापना की। 23 सितम्बर, 1951 को विश्व बधिर संघ की स्थापना की गयी थी। सितम्बर, 1958 में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय बधिर सप्ताह मनाया गया था। विश्व बधिर संघ के अनुसार विश्व भर में लगभग 72 मिलियन बधिर लोग हैं, जो सुन नहीं सकते। इनमे से 80% लोग विकासशील देशों में रहते हैं। वे 300 से अधिक सांकेतिक भाषाओँ का उपयोग करते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , ,

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के शताब्दी समारोह का उद्घाटन

22 सितम्बर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के शताब्दी समारोह का उद्घाटन नई दिल्ली में किया। यह एक स्वायत्त संस्था है जो केंद्र सरकार से मिलने वाले अनुदान की सहायता से कार्य करती है।

दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा

दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा का उद्देश्य गैर-हिंदी भाषी दक्षिण भारत में हिंदी साक्षरता दर में सुधार करना है। दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा स्थापना 1918 में महात्मा गाँधी ने की थी, वे मृत्यु तक इसके अध्यक्ष रहे। दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा का मुख्यालय तमिलनाडु के चेन्नई में स्थित है। केंद्र सरकार ने इसे 1964 में राष्ट्रीय महत्व का संस्थान चिन्हित किया था। इसे चार मंडलों में बांटा गया है, इसमें प्रत्येक राज्य आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के लिए एक-एक मंडल में विभाजित किया गया है।

Categories:

Month:

Tags: , ,

Advertisement