करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

कमलेश नीलकंठ व्यास को परमाणु उर्जा आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया गया

प्रतिष्ठित परमाणु वैज्ञानिक कमलेश नीलकंठ व्यास को परमाणु उर्जा विभाग का सचिव तथा परमाणु उर्जा आयोग का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। वे 3 मई, 2021 तक इस पद पर कार्य करेंगे। वे शेखर बासु की जगह लेंगे। शेखर बासु को अक्टूबर, 2015 में इस पद पर नियुक्त किया गया था।

कमलेश नीलकंठ व्यास

वर्तमान में कमलेश व्यास भाभा परमाणु अनुसन्धान केंद्र (BARC), मुंबई में निदेशक के पद पर कार्यरत्त है। उन्होंने वड़ोदरा की एम.एस. यूनिवर्सिटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की है। 1979 में उन्होंने BARC के प्रशिक्षण स्कूल में प्रशिक्षण पूरा किया, उसके पश्चात् वे BARC के फ्यूल डिजाईन एंड डेवलपमेंट सेक्शन में शामिल हुए।

उन्होंने परमाणु सयंत्र के इंधन के डिजाईन और विश्लेषण पर काफी कार्य किया है। उन्हें 2011 में इंडियन न्यूक्लियर सोसाइटी आउटस्टैंडिंग सर्विस अवार्ड, 2006 में होमी भाभा साइंस एंड टेक्नोलॉजी अवार्ड, 2007, 2008, 2012 और 2013 में DAE अवार्ड्स से सम्मानित किया गया।

परमाणु उर्जा आयोग

इसकी स्थापना 1948 में की गयी थी, इसका उद्देश्य देश की परमाणु उर्जा सम्बन्धी गतिविधियों का अवलोकन करना है। इसका प्रमुख कार्य भारत में परमाणु उर्जा पर शोध के लिए वैज्ञानिकों को प्रशिक्षित करना है तथा परमाणु उर्जा से सम्बंधित शोध कार्य को बढ़ावा देना है।

Categories:

Month:

Tags: , ,

भारत बना कूलिंग एक्शन प्लान पर दस्तावेज तैयार करने वाला पहला देश

विश्व ओजोन दिवस 2018 को केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मोंट्रियल प्रोटोकॉल इंडियाज़ सक्सेस स्टोरीनामक पुस्तक तथा भारत के कूलिंग एक्शन प्लान का मसौदा जारी किया। इसके साथ ही भारत विश्व का ऐसा पहला देश बन गया है जिसने कूलिंग एक्शन प्लान फॉर इस प्रकार के दस्तावेज तैयार कर लिए हैं।

मुख्य बिंदु

इस ड्राफ्ट में विभिन्न सेक्टर्स को कुलिंग आवश्यकताओं के बारे में विस्तृत जानकारी एकत्रित की गयी है, इसमें उन सब गतिविधियों की सूची बनायीं गयी है जिनसे कूलिंग की मांग में कमी की जा सकती है, इससे प्रत्यक्ष व प्रत्यक्ष उत्सर्जन में कमी आएगी।  

लक्ष्य

2037-38 तक रेफ्रिजेरंट की मांग में 25-30% की कमी करना।

2037-38 तक कूलिंग की मांग में 20-25% की कमी करना।

2037-38 तक कुलिंग एनर्जी की आवश्यकता में 25-40% की कमी करना।

2022-23 तक सर्विसिंग सेक्टर तकनीशियन को प्रशिक्षण प्रदान करना।

Categories:

Month:

Tags: , ,

Advertisement