करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

आज के मुख्य करेंट अफेयर्स समाचार :  6 दिसम्बर, 2019

प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से महत्वपूर्ण 6 दिसम्बर, 2019 के मुख्य समाचार निम्नलिखित हैं :

राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स   

  • भारत और रूस के बीच 10-19 दिसम्बर के बीच किया जायेगा ‘इंद्र अभ्यास’ का आयोजन।
  • केंद्र सरकार में पुलिस स्टेशन में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना के लिए निर्भया फण्ड से 100 करोड़ रुपये मंज़ूर दिए।
  • केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने मध्य प्रदेश के देवास में अवन्ती मेगा फ़ूड पार्क का उद्घाटन किया।

व्यापारिक व आर्थिक करेंट अफेयर्स

  • 208-19 के दौरान NHAI के टोल प्लाजा से 24,396.19 करोड़ रुपये एकत्रित किये।
  • नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने उड़ान 4.0 को शुरू किया।
  • मुंबई के एक न्यायालय ने नीरव मोदी को भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया।
  • विप्रो ने ऑस्ट्रलिया के मेलबोर्न  में लांच किया साइबर डिफेन्स सेंटर।
  • MG मोटर इंडिया ने पेश किया इलेक्ट्रिक कार मॉडल ZS।

अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

  • 5 दिसम्बर को मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस।
  • 5 दिसम्बर को मनाया गया विश्व मृदा दिवस।

खेल कूद करेंट अफेयर्स

  • इंग्लैंड के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ बॉब विलिस का निधन हुआ।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

नीरव मोदी को भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया

मुंबई के विशेष न्यायालय ने नीरव मोदी को भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया है। इस प्रकार नीरव मोदी  नए भगौड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम, 2018 के तहत दोषी घोषित किये जाने वाले दूसरे बिज़नेसमैन बने, उनसे पहले विजय माल्या को आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है। नीरव मोदी पर 14,000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है।

मुख्य बिंदु

नीरव मोदी को निम्नलिखित प्रावधानों के तहत भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है :

  • भगौड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम, 2018 के अनुसार भगौड़ा आर्थिक अपराधी वह व्यक्ति है जिस पर 100 करोड़ रुपये से अधिक की राशि के आर्थिक अपराध के मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है और वह कारवाई से बचने के लिए देश को छोड़कर चला जाता है।
  • इसके लिए जांच एजेंसियों को धन शोधन रोकथाम अधिनियम, 2002 के तहत विशेष न्यायालय में एप्लीकेशन फाइल करनी होगी, इस एप्लीकेशन में आरोपी की संपत्ति तथा उसकी वर्तमान स्थिति का ब्यौरा भी देना होगा।
  • विशेष न्यायालय आरोपी व्यक्ति को न्यायालय के समक्ष पेश होने के लिए नोटिस जारी करेगा, दोषी व्यक्ति को नोटिस जारी होने के 6 सप्ताह के अन्दर न्यायालय द्वारा बताये गये स्थान पर पेश होना पड़ेगा।
  • यदि आरोपी व्यक्ति न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत हो जाता है तो करवाई रोक दी जायेगी। इसके तहत उस व्यक्ति को भगौड़ा  आर्थिक अपराधी घोषित नहीं किया जाएगा।
  • भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया व्यक्ति 30 दिन के भीतर उच्च न्यायालय में विशेष न्यायालय के फैसले को चनौती दे सकता है।

 

 

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement