अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण दिवस

आज के मुख्य करेंट अफेयर्स समाचार :  17 सितम्बर, 2019

प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से महत्वपूर्ण 17 सितम्बर, 2019 के मुख्य समाचार निम्नलिखित हैं :

राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स   

DRDO ने नई पीढ़ी के वॉर-गेमिंग सॉफ्टवेयर को भारतीय नौसेना को सौंपा।

भारत, सिंगापुर और थाईलैंड पोर्ट ब्लेयर में 16 से 20 सितम्बर के दौरान त्रिपक्षीय नौसैनिक अभ्यास का आयोजन करेंगे।

हिमाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन ’1100’ को लांच किया गया।

अर्थव्यवस्था व व्यापार से सम्बंधित करेंट अफेयर्स

BSE Sensex: 37,123.31 (–261.68), NSE Nifty: 10,996.10 (–79.80)

थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति दर अगस्त में 1.08% रही।

IISc बंगलुरु में स्वच्छ कोयला अनुसन्धान व विकास के लिए राष्ट्रीय केंद्र का उद्घाटन किया गया।

अतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

16 सितम्बर को मनाया गया ‘अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण दिवस’।

इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट द्वारा जारी सबसे सुरक्षित शहरों की सूची में टोक्यो पहले स्थान पर रहा।

रूस 16 से 21 सितम्बर के बीच ‘सेंटर-2019’ नामक युद्ध अभ्यास का आयोजन करेगा।

भारत के रघु राय ने फ्रांस में विलियम क्लाइन फोटोग्राफी अवार्ड जीता।

विंग कमांडर अंजली सिंह बनीं विदेश में भारतीय मिशन में तैनात की जाने वाली पहली महिला सैन्य राजनयिक।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्लोवेनिया के राष्ट्रपति बोरुत पाहोर से मुलाकात की।

खेल करेंट अफेयर्स

भारत के कौशल धर्ममेर ने म्यांमार इंटरनेशनल सीरीज बैडमिंटन प्रतियोगिता में पुरुष एकल वर्ग का ख़िताब जीता।

 

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

16 सितम्बर : अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण दिवस

अंतर्राष्ट्रीय ओजोन संरक्षण दिवस (विश्व ओजोन दिवस) को प्रत्येक वर्ष 16 सितम्बर को मनाया जाता है। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय ओजोन संरक्षण दिवस की थीम “कीप कूल एंड कैरी ऑन : द मोंट्रियल प्रोटोकॉल” है। इस दिवस की घोषणा संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 19 दिसम्बर, 1994 में की गयी थी। इसी दिन 1987 में मोंट्रियल प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किये गये थे। इसका उद्देश्य ओजोन परत के संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाना तथा इसकी संरक्षण के लिए समाधान ढूंढना है।

ओजोन परत

ओजोन परत गैस की एक सुरक्षा परत है, यह पृथ्वी को सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से बचाती है। इस परत में ओजोन (O3) की काफी अधिक मात्रा पायी जाती है। क्लोरोफ्लोरोकार्बन, हेलॉन तथा कार्बनटेट्राक्लोराइड जैसे तत्त्व ओजोन परत के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं।

मोंट्रियल प्रोटोकॉल

यह एक अंतर्राष्ट्रीय संधि है, इसे ओजोन परत के संरक्षण के लिए बनाया गया था। इस संधि पर 26 अगस्त, 1987 को कनाडा के मोंट्रियल में सहमती प्रकट की गयी थी, यह संधि 26 अगस्त, 1989 से लागू हुई थी। इस संधि के बाद मई, 1989 में हेलसिंकी में एक बैठक का आयोजन किया गया था। इस बैठक में क्लोरोफ्लोरोकार्बन, CTC हेलॉन, मिथाइल ब्रोमाइड, मिथाइल क्लोरोफॉर्म तथा कार्बनटेट्राक्लोराइड को कम करने पर चर्चा की गयी थे। इस प्रस्ताव के विश्व भर के 197 देशों द्वारा पारित किया गया था। यह संधि काफी सफल भी रही है।

ओजोन परत संरक्षण के लिए विएना सम्मेलन

यह एक बहुराष्ट्रीय समझौता है, इस पर 1985 में सहमती प्रकट की गयी थी और यह 1988 में लागू हुआ था। इस 197 सदस्य देशों द्वारा पारित किया गया है। यह ओजोन परत की संरक्षण के लिए एक फ्रेमवर्क के रूप में कार्य करता है। परन्तु इस समझौते में ओजोन परत को नष्ट करने वाले कारकों को कम करने के सम्बन्ध में कोई व्यवस्था नहीं की गयी है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement