अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

आज के मुख्य करेंट अफेयर्स समाचार :  14 अक्टूबर, 2019

प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से महत्वपूर्ण 14 अक्टूबर, 2019 के मुख्य समाचार निम्नलिखित हैं :

राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स   

  • 13 से 28 अक्टूबर, 2019 के बीच भारत और अमेरिका के बीच ‘वज्र प्रहार’ युद्ध अभ्यास का आयोजन किया जा रहा है।
  • संस्कृति द्वारा जबलपुर (मध्य प्रदेश) में 14 से 21 अक्टूबर के बीच राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।
  • वर्ष 2018-19 के लिए हिंदी व मलयालम फिल्म प्रोड्यूसर प्रियदर्शन को राष्ट्रीय किशोर सम्मान से सम्मानित किया गया, वर्ष 2017-18 के लिए वहीदा रहमान को दिया गया यह पुरस्कार।

अर्थव्यवस्था व व्यापार से सम्बंधित करेंट अफेयर्स

  • 11 से 13 अक्टूबर के बीच नई दिल्ली के प्रगति मैदान में किया गया इंडिया इंटरनेशनल कोआपरेटिव ट्रेड फेयर का आयोजन।

अतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

  • इन्स्टाग्राम पर प्रधानमंत्री मोदी के फोलोवर्स की संख्या 30 मिलियन के पार पहुंची, इसके साथ ही श्री मोदी सबसे अधिक फॉलो किये जाने वाले विश्व नेता बन गये हैं।
  • भारतीय नन मरियम थ्रेसिया को पोप फ्रांसिस द्वारा संत घोषित किया गया।
  • उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने सिएरा लियोन की राजधानी फ्रीटाउन में उच्चायुक्त खोलने की घोषणा की।
  • 13 अक्टूबर को मनाया गया विश्व आपदा निम्नीकरण दिवस।

खेल-कूद करेंट अफेयर्स

  • भारतीय मुक्केबाज़ मंजू रानी ने महिला विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीता।
  • मर्सीडीज़ के ड्राईवर वाल्तेरी बोटास ने फार्मूला वन जापानीज ग्रैंड प्रिक्स को जीता।
  • भारत के लक्ष्य सेन ने डच ओपन बैडमिंटन प्रतियोगिता के पुरुष एकल वर्ग के खिताब को जीता।
  • भारतीय क्रिकेट टीम ने दूसरे टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका को पारी व 137 रनों से पराजित किया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

अमेरिका के हाउस ऑफ़ रीप्रेजेंटेटिव ने यमन के गृह युद्ध से अमेरिका को अलग करने के पक्ष में मतदान किया

हाल ही में अमेरिका के हाउस ऑफ़ रीप्रेजेंटेटिव ने यमन के गृह युद्ध से अमेरिका को अलग करने के पक्ष में मतदान किया। अमेरिका को यमन गृह युद्ध से बाहर निकालने के पक्ष में 247 मत पड़े जबकि इसके विरोध में 175 मत पड़े। इसके पश्चात् अमेरिका को 30 दिन के भीतर यमन से अपने सशस्त्र बलों को बाहर निकलना पड़ेगा।

यमन का गृह युद्ध

  • यमन के गृह युद्ध की शुरुआत 2011 में हुई, जब अन्य कई अरब देशों में अव्यवस्था की स्थिति फैली थी। उस समय लम्बे समय से यमन के राष्ट्रपति रहे अली अब्दुल्लाह सालेह ने अब्द्रब्बुह मंसूर हादी को सत्ता सौंपी।
  • राष्ट्रपति हादी को यमन में विभिन्न समस्याओं का सामना करने में काफी संघर्ष करना पड़ा, उनके सामने जिहादियों के हमले, दक्षिण में अलगाववादी आन्दोलन, सुरक्षा बलों की अली अब्दुल्लाह सालेह के प्रति स्वामीभक्ति, भ्रष्टाचार, बेरोज़गारी तथा खाद्य सुरक्षा जैसी विशाल समस्याएं थीं।
  • सालेह के समर्थक सैन्य अधिकारियों ने यमन पर नियंत्रण प्राप्त करने के प्रयास किया, जिसके बाद राष्ट्रपति हादी को मार्च 2015 में मजबूरन देश छोड़ कर भागना पड़ा।
  • सऊदी अरब तथा आठ अन्य सुन्नी अरब देशों को यमन को सेना को शिया ईरान का समर्थन प्राप्त होने का संदेह था। इसके बाद सऊदी अरब तथा आठ अन्य सुन्नी अरब देशों ने हादी की सरकार को पुनः स्थापित करने के लिए हवाई हमले शुरू किये।
  • बाद में सरकार तथा विरोधियों ने युद्धविराम पर सहमती प्रकट की है, परन्तु अभी तक इसका कोई ठोस परिणाम नहीं निकला है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement