अंतर्राष्ट्रीय व्यापार

सरकार ने लॉन्च की निर्यात मित्र एप्प

केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने हाल ही में आयातक व निर्यातकों के लिए निर्यात मित्र मोबाइल एप्प लांच की। इस एप्प को भारतीय निर्यात संगठन संघ ने विकसित किया है, यह देश का सबसे बड़े निर्यात संगठन है। निर्यात मित्र एप्प एंड्रायड और iOS दोनों प्लेटफॉर्म्स पर काम करेगी।

निर्यात मित्र एप्प  

इस एप्प में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के सम्बन्ध में काफी विस्तृत जानकारी है, इसमें आयात व निर्यात के लिए नीति व्यवस्था, GST रेट, निर्यात प्रोत्साहन राशि, शुल्क इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी गयी है। इसमें टेरिफ लाइन के सम्बन्ध में भी जानकारी दी गयी है। यह एप्प Indian Trade Clarification (ITC) और अन्य देशों के Harmonized Item Description and Coding System के विश्लेषण का कार्य करती है। यह एप्प HS कोड के बिना उपभोक्ता को आवश्यक डाटा उपलब्ध करवाती है। वर्तमान में इस एप्प में 87 देशों का डाटा उपलब्ध है। यह एप्प भारतीय निर्यात संगठन संघ के प्रोग्राम के बारे में भी जानकारी उपलब्ध करवाती है।

भारतीय निर्यात संगठन संघ

भारतीय निर्यात संगठन संघ देश के सबसे बड़े व्यापार संगठनों में से एक है। इसकी स्थापना 1965 में वाणिज्य मंत्रालय और निजी व्यापार व उद्योगों ने संयुक्त रूप से की थी। यह संगठन भारतीय उद्यमियों और निर्यातकों का विदेश में प्रतिनिधित्व व सहायता करता है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

STA-1 : भारत बना विशिष्ट अमेरिकी तकनीक प्राप्त करने वाला पहला दक्षिण एशियाई देश

अमेरिका ने भारत को Strategic Trade Authorization 1 (STA-1) देश चिन्हित किया है, इसके द्वारा भारत को अमेरिका से अत्याधुनिक तकनीक प्राप्त करने की अनुमति मिल गयी है। यह विशिष्ट स्टेटस अमेरिका द्वारा नाटो तथा निकट सहयोगियों को दिया गया है। भारत इस स्टेटस को प्राप्त करने वाला पहला देश दक्षिण एशियाई है, एशिया में जापान और दक्षिण कोरिया को यह स्टेटस प्राप्त है।

मुख्य बिंदु

STA-1 के तहत अमेरिका  भारत को लाइसेंस मुक्त कई महत्वपूर्ण तकनीके प्रदान करेगा। इससे दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों में मजबूती आएगी और भारत में अमेरिकी आयात में वृद्धि होगी। इसके साथ भारत चार में तीन बहुपक्षीय निर्मात नियंत्रण व्यवस्था में शामिल हो गया है। इससे अमेरिकी कंपनियां अधिक कुशलतापूर्वक भारत में विभिन्न उत्पादों का निर्यात कर सकती हैं। इससे अमेरिकी निर्माताओं को लाभ होगा तथा वे अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा को सुदृढ़ बनाये रख सकते हैं ।

इससे भारत की आपूर्ति श्रृंखला में कुशलता आएगी, इससे रक्षा व अन्य अत्याधुनिक तकनीकें भारत में आ सकेंगी। इससे भारत और अमेरिका के व्यापारिक सम्बन्ध भी मज़बूत होंगे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement