अनुच्छेद 370

भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर के लिए दो एम्स संस्थान तथा 9 मेडिकल कॉलेज के लिए मंज़ूरी दी

भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर में दो एम्स संस्थान तथा 9 मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए मंज़ूरी दे दी है। अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के बाद भारत सरकार जम्मू-कश्मीर में आधारभूत संरचना को सुधारने के लिए कार्य कर रही है।

मुख्य बिंदु

एम्स संस्थानों के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत मंज़ूरी दी गयी है। इस प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत लगभग 1,661 करोड़ रुपये है। इस प्रोजेक्ट को 2020 तक पूरा कर लिया जाएगा। एम्स में नर्सिंग कॉलेज भी होगा। एम्स भवन का निर्माण ‘ग्रीन बिल्डिंग’ के रूप में किया जाएगा।

ग्रीन बिल्डिंग

ग्रीन बिल्डिंग वह भवन होता है जो संसाधन दक्ष तथा पर्यावरण हितेषी हो। संसाधन दक्षता डिजाईन, निर्माण, रखरखाव तथा मरम्मत इत्यादि चरणों के दौरान हासिल की जाती है।

प्रधानमंत्री मंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) को सस्ती/विश्वसनीय तृतीयक स्वास्थ्य सेवा की उपलब्धता में क्षेत्रीय असंतुलन को सुधारने और देश में गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा शिक्षा की सुविधा बढ़ाने के उद्देश्य से शुरू किया गया गया था। एम्स जैसे संस्थानों की स्थापना तथा सरकारी मेडिकल कॉलेज/संस्थानों का विकास करना प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) के दो प्रमुख घटक हैं।

इस योजना को 2006 में लांच किया गया था। इस योजना के पहले चरण में 6 एम्स (AIIMS) संस्थानों का निर्माण बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, उत्तराखंड तथा राजस्थान में किया जाना था। दूसरी चरण में उत्तर प्रदेश और पश्चिम ब्नागल में दो AIIMS संस्थानों तथा 6 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की गयी। तीसरे चरण में मेडिकल कॉलेजों को अपग्रेड किया गया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

पाकिस्तान भारत से आयात करेगा पोलियो मार्कर

पाकिस्तान की सरकार ने भारत से पोलियो मार्कर आयात करने का निर्णय लिया है। गौरतलब है कि भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को निरस्त किये जाने के बाद पाकिस्तान सरकार ने भारत के व्यापार को निलंबित कर दिया था।

मुख्य बिंदु

विश्व में तीन देश ऐसे हैं जहाँ पर अभी भी पोलियो एक बड़ी बिमारी है, यह देश हैं पाकिस्तान, नाइजीरिया और अफ़ग़ानिस्तान। दिसम्बर, 2019 में पाकिस्तान के वाइल्ड पोलियो वायरस के 111 मामले दर्ज हैं। 2014 में पाकिस्तान में विश्व में सर्वाधिक पोलियो के मामले थे।

बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के बाद उनकी उँगलियों पर पोलियो मार्कर की सहायता से निशान लगाये जाते हैं।

भारत ने पोलियो को समाप्त करने के लिए 1995 में अभियान लांच क्या गया था, यह अभियान सफल रहा और भारत से पोलियो को समाप्त किया गया। भारत में पोलियो का अंतिम मामला 2011 में दर्ज किया गया था।

पोलियो

पोलियो एक संक्रामक रोग है, यह आमतौर पर पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को प्रभावित करता है। पोलियो का वायरस दूषित जल के द्वारा एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है। यह वायरस तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है, इससे कई मामलों में व्यक्ति पक्षाघात भी हो सकता है। हालांकि पोलियो का कोई इलाज नहीं है, परन्तु टीके की सहायता से इसके रोका सकता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement