अमेरिका

1 जुलाई 2020 से प्रभावी हुआ NAFTA 2.0

अमेरिका, मैक्सिको और कनाडा के बीच एक नया मुक्त व्यापार समझौता 1 जुलाई, 2020 से लागू हो गया है। इसने तीन देशों के बीच 26 वर्ष पुराने व्यापार समझौते ‘उत्तरी अमेरिका मुक्त व्यापार समझौते (नाफ्टा)’ की जगह ले ली है। तीनों देशों द्वारा नए मुक्त व्यापार समझौते की पुष्टि की गई है।

नए व्यापार समझौते के सभी तीन हस्ताक्षरकर्ताओं ने इसे अलग-अलग नामों से संदर्भित किया है, अमेरिका ने इसे यूएसएमसीए- संयुक्त राज्य मेक्सिको अमेरिका समझौता कहा है, जबकि कनाडा सरकार ने इसे CUSMA तथा  मेक्सिको ने इसे टी-एमईसी द्वारा संदर्भित किया है।

NAFTA 2.0 पूर्णतया नया समझौता नहीं है, यह कुछ परिवर्तनों के साथ पहले किए गए NAFTA समझौते का पुन: समझौता संस्करण है, इसलिए इसे NAFTA 2.0 के रूप में संदर्भित किया गया है।

पृष्ठभूमि

2016 के राष्ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने घोषणा की थी कि वह मैक्सिको और कनाडा के साथ NAFTA मुक्त व्यापार समझौते को फिर से शुरू कर्नेगे, और उन्होंने कहा था कि यदि वार्ता विफल हो जाती है, तो हम NAFTA समझौते से बाहर निकल जाएंगे।

अमेरिका और कनाडा के बीच अगस्त 2017 में ‘स्टील और एल्यूमीनियम टैरिफ’ पर ध्यान केंद्रित करने के साथ पुन: वार्ता अगस्त 2017 में शुरू हुई। अर्जेंटीना में 2018 जी 20 शिखर सम्मेलन के मौके पर तीन देशों के प्रमुखों द्वारा नाफ्टा 2.0 पर हस्ताक्षर किए गए।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

अमेरिका ने अस्थायी रूप से ‘ग्रीन कार्ड और गैर-प्रवासी काम वीजा’ निलंबित किया

COVID-19 के बाद आये एक वैश्विक आर्थिक संकट के बाद अमेरिकी सरकार ने 31 दिसम्बर, 2020 तक ‘ग्रीन कार्ड और गैर-प्रवासी कार्य वीज़ा’ को निलंबित करने का फैसला किया है। इसका उद्देश्य  अमेरिकी नागरिकों के लिए नौकरियां सुरक्षित करना है।

इस कार्यकारी आदेश पर 22 जून, 2020 को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने हस्ताक्षर किए।

पृष्ठभूमि

ग्रीन कार्ड और गैर-प्रवासी वर्क वीजा के निलंबन से अमेरिका में लगभग 5,25,000 नौकरियां पैदा होंगी। कोविड ​​-19 के कारण, रिपोर्टों के अनुसार, अमेरिका में रिकॉर्ड 47 मिलियन लोग अपनी नौकरी खो सकते हैं।

निलंबित कार्य वीजा

एच -1 बी

H-4 कुछ H-1B पति-पत्नी के लिए

कम कौशल श्रमिकों के लिए एच -2 बी

इंट्रा-कंपनी ट्रांसफर के लिए एल -1

शैक्षणिक व सांस्कृतिक कर्मियों के लिए J वीज़ा

एच -1 बी वीजा कार्यक्रम में सुधार

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने प्रशासन को वर्तमान एच -1 बी वीज़ा कार्यक्रम में सुधार करने के निर्देश दिए थे। सुधार के अनुसार, अप्रवासी श्रमिक जिन्हें भर्तीकर्ता द्वारा उच्चतम मजदूरी की पेशकश की जाती है, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी, यह सुनिश्चित करता है कि संयुक्त राज्य के नागरिकों के वेतन की रक्षा की जाए क्योंकि नियोक्ता कम लागत वाले विदेशी श्रम की भर्ती नहीं कर पाएंगे।

भारत पर प्रभाव

हर साल H-1B वीजा 85,000 लोगों को ही जारी किया जाता है, इनमें से रिकॉर्ड के अनुसार वीजा कार्यक्रम के सबसे बड़े लाभार्थी भारतीय थे। कुल 85,000 लाभार्थियों में से 70 प्रतिशत से अधिक भारत से हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement