अयोध्या

अयोध्या में बना सबसे ज्यादा दिए जलाने का विश्व रिकॉर्ड

26 अक्टूबर, 2019 को उत्तर प्रदेश के अयोध्या शहर में सरयू नदी के किनारे 4 लाख मिट्टी के दीपक जलाए गए थे। इस कार्यक्रम का आयोजन उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया था। सत्ता में आने के बाद यह अयोध्या में तीसरा और सबसे बड़ा दीपोत्सव था।

पिछले साल लगभग 3 लाख दीपक जलाए गए थे। राम जन्म भूमि पर SC के फैसले के पहले दीपावली मनाई गई।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की शुरुआत 1955 में हुई थी। यह वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की एक किताब है जो हर साल मानव उपलब्धियों और प्राकृतिक दुनिया के रिकॉर्ड को सूचीबद्ध करते हुए प्रकाशित की जाती है। यह 23 देशों में 100 देशों में प्रकाशित होती है।

सरयू नदी

यह नदी भारतीय राज्यों उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से होकर बहती है। यह कर्णाली और महाकाली नदियों के संगम पर उत्पन्न होती है। यह गंगा नदी की एक सहायक नदी है। अयोध्या में भगवान राम के भक्त भगवान राम के जन्म स्थान सरयू नदी में डुबकी लगाते हैं। नदी का आध्यात्मिक महत्व है और यह महाकाव्य रामायण से संबंधित है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories: /

Month:

Tags: , , ,

उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने फैजाबाद और इलाहबाद के नाम परिवर्तन को मंज़ूरी दी

हाल ही में उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने फैजाबाद और इलाहबाद के नाम परिवर्तन को मंज़ूरी दे दी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इलाहबाद का नाम बदलकर प्रयागराज और फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या रखने का निर्णय लिया है। इस नाम परिवर्तन को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में मंज़ूरी दी गयी। अब यह नाम परिवर्तन का प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास भेजा जायेगा। प्रयागराज मंडल में प्रयागराज, कौशाम्बी, फतेहपुर और प्रतापगढ़ जिले आयेंगे। जबकि अयोध्या मंडल में अयोध्या, अम्बेडकरनगर, सुल्तानपुर, अमेठी और बाराबंकी जिले आयेंगे।

पृष्ठभूमि

16 अक्टूबर, 2018 को उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में इलाहबाद के नाम को बदलकर प्रयागराज करने के प्रस्ताव को स्वीकार किया गया। अगले वर्ष प्रयागराज में कुम्भ मेले का आयोजन किया जायेगा। इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन किया था।

इलाहबाद अथवा प्रयागराज उत्तर प्रदेश में स्थित है, यह इलाहबाद जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। यह गंगा तथा यमुना नदी के तात पर बसा हुआ है। यह शहर 82 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में हुआ है, इसकी जनसँख्या 11,17,094 है।

फैजाबाद का नाम अयोध्या किये जाने का कारण यह है कि यह इक्ष्वाकु वंश की राजधानी थी, तथा यह भगवान् राम का जन्मस्थान भी है। अयोध्या विभिन्न समयखण्डों में कई राज्यों व राजवंशों की राजधानी रही है।

 

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement