अरविन्द केजरीवाल

दिल्ली सरकार द्वारा जारी गारंटी कार्ड क्या है?

दिल्ली सरकार ने  19 जनवरी, 2020 को गारंटी कार्ड जारी किया, इस कार्ड में दिल्ली के लोगों के लिए 10 गारंटियां शामिल की गयी हैं। इसमें फ्री बस सेवा, बिजली, जल आपूर्ति और प्रदूषण इत्यादि को शामिल किया गया है।

बिजली

इस गारंटी कार्ड के द्वारा वर्ष भर निरंतर बिजली आपूर्ति की गारंटी दी गयी है। इसमें सभी लोगों के लिए 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली भी शामिल की गयी है। दिल्ली सरकार ने ओवरहेड बिजली की तारों के स्थान पर भूमिगत केबल बिछाने का आश्वासन भी दिया है।

पानी

इस कार्ड में 2025 तक सभी घरों को 24/7 स्वच्छ पीने के पानी की आपूर्ति करने के आश्वासन दिया गया है।

अधोसंरचना

गारंटी कार्ड में मुफ्त शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधा और मोहल्ला क्लिनिक जैसे कई पहलुओं को शामिल किया गया है। इस कार्ड में ‘जहाँ झुग्गी वहां मकान’ योजना के तहत जुग्गियों में रहने वाले लोगों के लिए पक्का मकान बनाने के वादा किया गया है।

अन्य गारंटियां

इस गारंटी कार्ड में सस्ती परिवहन सुविधा देने का वादा किया गया है, राष्ट्रीय राजधानी में छात्रों व महिलाओं के लिए मुफ्त बस सेवा उपलब्ध करवाई जायेगी। दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा के लिए ‘मोहल्ला मार्शल’ तैनात किये जायेंगे।

गारंटी कार्ड में दिल्ली में प्रदूषण को कम करने का ज़िक्र भी किया गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

दिल्ली कैबिनेट ने प्रदूषण पर नई नीति को मंज़ूरी दी

24 दिसम्बर, 2019 को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली में विद्युत् वाहनों को बढ़ावा दने के लिए नई नीति प्रस्तुत की। इस नीति के तहत सरकार विद्युत् वाहनों के लिए सब्सिडी प्रदान करेगी।

मुख्य बिंदु

इस नीति का उद्देश्य 2024 नए पंजीकृत वाहनों में 25% विद्युत् वाहन शामिल करना है। इसके अलावा सरकार 250 चार्जिंग स्टेशन निर्मित करने की योजना भी बना रही है। इसमें 20% पार्किंग विद्युत् वाहनों के लिए निर्धारित की जायेगी। इस नीति का निर्माण UNEP (संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम), विशेषज्ञों तथा अंतर्राष्ट्रीय परिवहन परिषद् से फीडबैक लेने के बाद किया गया है। इस नीति के पहले ड्राफ्ट को नवम्बर, 2018 में सार्वजनिक किया गया था।

यह नीति दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए आवश्यक है क्योंकि दिल्ली में 80% कार्बन मोनोऑक्साइड, 40% PM 2.5 तथा 80% नाइट्रोजन ऑक्साइड के उत्सर्जन में जीवाश्म इंधन से चलने वाले वाहनों का हिस्सा काफी ज्यादा है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement