अर्जेंटीना

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अल्जीरिया तथा अर्जेंटीना को मलेरिया से मुक्त किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाल ही में अल्जीरिया और अर्जेंटीना को मलेरिया से मुक्त घोषित किया। इन दो देशों में पिछले कुछ समय पर मलेरिया का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। मलेरिया एनोफील्स नामक मादा मच्छर के काटने से होता है, 2017 में मलेरिया के कारण 4,35,000 लोगों की मौत हुई थी, इसमें अधिकतर मृतक अफ्रीका में 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे थे।

मलेरिया

मलेरिया मच्चार के कारण होने वाला रोग है, एक एक संक्रामक रोग है। मलेरिया एनोफीलीज़ मादा मच्छर के काटने से होता है। यह पैरासाईंटिक प्रोटोजोआ के कारण होता है। जब संक्रमित मच्छर किसी व्यक्ति को काटता है तो परजीवी इस व्यक्ति के यकृत (लीवर) में तेज़ी से बढ़ना शुरू हो जाते हैं। यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं (आरबीसी) को संक्रमित करके नष्ट कर देता है। शुरूआती निदान से मलेरिया को नियंत्रित किया जा सकता है।

मलेरिया के लक्षण  

सर्दी-ज़ुकाम

बुखार

सांस लेने में तकलीफ

असामान्य रक्त बहाव

रक्ताल्पता (एनीमिया) के लक्षण

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

अर्जेंटीना ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के फ्रेमवर्क समझौते पर हस्ताक्षर किये

इन दिनों अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरिशियों मैक्री भारत की यात्रा पर हैं। इस दौरान अर्जेंटीना ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के फ्रेमवर्क समझौते पर हस्ताक्षर किये। अर्जेंटीना की ओर से अर्जेंटीना के विदेश मंत्री जोर्गे फौरी ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के महानिदेशक उपेन्द्र त्रिपाठी की उपस्थिति में फ्रेमवर्क पर हस्ताक्षर किये।

अंतर्राष्ट्रीय सोलर गठबंधन (International Solar Alliance)

अंतर्राष्ट्रीय सोलर गठबंधन की शुरुआत भारत और फ्रांस ने मिलकर नवम्बर 2015 में COP 21 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन के दौरान की थी। इसका फ्रेमवर्क समझौता दिसम्बर, 2017 में लागू हुआ था। इसका स्थापना दिवस 11 मार्च, 2018 को मनाया गया था। इसका मुख्यालय हरियाणा के गुरुग्राम में राष्ट्रीय सौर उर्जा संस्थान (NISE) में स्थित है। यह ऐसी पहली अंतर्राष्ट्रीय अंतरसरकारी संधि है जिसका मुख्यालय भारत में स्थित है।

ISA का उद्देश्य सौर उर्जा से परिपूर्ण देशों को एकजुट करके सौर उर्जा उत्पादन को बढ़ावा देना है। बड़ी मात्रा में सौर उर्जा उत्पादन के कारण इसकी उत्पादन लागत भी कम आएगी। सौर उर्जा उत्पादन के सदस्य देशों में अनुसन्धान व विकास कार्य में मिलकर काम करेंगे।

ISA के उद्देश्य

संयुक्त प्रयासों से सौर उर्जा उत्पादन के लिए आवश्यक उपकरण व तकनीक की लागत कम करना।

2030 तक वृहत स्तर पर सौर उर्जा उत्पादन के लिए 1000 अरब डॉलर का निवेश करना।

कर्क रेखा व मकर रेखा के बीच 121 अधिक सूर्य ताप प्राप्त करने वाले देशों को सौर उर्जा उत्पादन के लिए प्रोत्साहित करना।

ISA द्वारा चलाये जा रहे प्रोग्राम

ISA द्वारा चलाये जा रहे कुछ प्रोग्राम हैं – स्केलिंग सोलर मिनी ग्रिड्स; अफोर्डेबल फाइनेंस एट स्केल; स्केलिंग सोलर एप्लीकेशन्स फॉर एग्रीकल्चरल यूज़; स्केलिंग सोलर रूफटॉप इत्यादि।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement