आयुष्‍मान भारत

पिछले 5 महीने में 8.8 करोड़ लोगों ने आयुष्मान भारत योजना के तहत हेल्थकेयर सेवाओं का लाभ उठाया

आयुष्मान भारत योजना के तहत देश भर में स्वास्थ्य और वेलनेस केन्द्रों में  1 फरवरी, 2020 से 30 जून, 2020 तक  8.8 करोड़ भारतीय नागरिकों ने स्वास्थ्य सेवा का लाभ उठाया है।

COVID-19 लॉकडाउन के समय देश भर में कार्यरत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों ने योग और कल्याण के 6.53 लाख सत्र आयोजित किए हैं।

मुख्य बिंदु

8.8 करोड़ लोगों में से:

  • 1.41 करोड़ लोगों में हाइपरटेंशन का पता चला
  • 1.34 करोड़ मौखिक, स्तन या गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर से प्रभावित हैं
  • 1.12 करोड़ लोग मधुमेह से पीड़ित हैं

जून 2020 में: 5.62 लाख रोगियों को उच्च रक्तचाप की दवाएं प्रदान की गयी, जबकि 3.77 लाख मधुमेह के मरीजों को स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा प्रदान की गयी

COVID-19 महामारी के दौरान इस योजना के तहत चिकित्सा सेवाएं सुनिश्चित करने के लिए सरकार द्वारा उठाये गये कदम

31 दिसंबर, 2020 तक देश भर में 29,365 स्वास्थ्य और वेलनेस केंद्र थे। 2020 की पहली छमाही (जनवरी से जून तक) में, देश भर में 12,425 अतिरिक्त स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का संचालन किया गया है। 1 जुलाई, 2020 को आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य और वेलनेस केंद्र की कुल संख्या 41,790 थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

प्रवासी श्रमिकों को आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर किया जाएगा

भारत सरकार ने अपने प्रमुख कार्यक्रम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) को प्रवासी श्रमिकों के लिए विस्तारित किया है। इससे पहले भारत सरकार ने घोषणा की थी कि आयुष्मान भारत लाभार्थियों को मुफ्त COVID-19 परीक्षण की सुविधा प्राप्त होगी।

मुख्य बिंदु

यह निर्णय उन प्रवासी श्रमिकों की मदद करने के लिए लिया गया है जो लॉकडाउन के कारण अपनी नौकरी और आजीविका खो चुके हैं। इस योजना को लागू करने वाला राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण पात्र प्रवासियों को ई-कार्ड जारी करेगा।

आयुष्मान भारत क्यों?

भारत सरकार ने आयुष्मान भारत को कई कारणों से प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए चुना है। मुख्य कारण यह है कि लौटने वाले श्रमिक ग्रामीण भारत के हैं। और आयुष्मान भारत के लाभार्थियों में से कम से कम 80% ग्रामीण भारत से हैं।

आयुष्मान भारत

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक कागज रहित और कैशलेस योजना है, जिसका उद्देश्य प्रति वर्ष प्रति परिवार 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य कवर प्रदान करना है। इस योजना के तहत लगभग 53 करोड़ लाभार्थियों की पहचान की गई है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement