आयुष

आयुष मंत्रालय तथा CSIR ने MoU पर हस्ताक्षर किये

आयुष मंत्रालय तथा वैज्ञानिक व औद्योगिक अनुसन्धान परिषद् (CSIR) ने अनुसन्धान तथा शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग के लिए MoU पर हस्ताक्षर किये।

मुख्य बिंदु

इस MoU के तहत दोनों संगठन निम्नलिखित कार्य के लिए सहयोग करेंगे :

  • मूलभूत अनुसन्धान
  • आयुष से सम्बंधित निदान उपकरण, माइक्रोबायोम लिंकिंग, बहु-औषधीय फार्मूलेशन तथा मानकीकरण।
  • भारतीय औषधि पद्धति के साथ आधुनिक वैज्ञानिक पद्धतियों का एकीकरण।
  • भारतीय चिकित्सा पद्धति  से सम्बंधित प्राचीन ज्ञान के संरक्षण के लिए सहयोग।
  • आयुर्वेद, सिद्ध तथा यूनानी में अंतर्राष्ट्रीय मानकीकृत शब्दावली का विकास।

आयुष

भारत में प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास काफी पुराना है, भारत में 5000 वर्षों से भी अधिक समय से प्राकृतिक व वैज्ञानिक चिकित्सा प्रणाली का उपयोग किया जाता रहा है। आयुष का पूर्ण संस्करण आयुर्वेद, योग, नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्ध और होमियोपैथी है (AYUSH : Ayurveda, Yoga and Naturopathy, Unani, Siddha and  Homoeopathy)।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

विश्व होमियोपैथी दिवस 2019

10 अप्रैल, 2019 को विश्व होमियोपैथी दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। विश्व होमियोपैथी दिवस होमियोपैथी के संस्थापक डॉ. क्रिस्चियन फ्रेडरिक सेमुअल हानेमन की जन्म वर्षगाँठ को मनाया जाता है। विश्व होमियोपैथी दिवस के अवसर पर केन्द्रीय होमियोपैथी अनुसन्धान परिषद् द्वारा नई दिल्ली में 9-10 अप्रैल को दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। केन्द्रीय होमियोपैथी अनुसन्धान परिषद् केन्द्रीय आयुष मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्त अनुसन्धान संगठन है।

होमियोपैथी

होमियोपैथी के वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति है, इसे 1796 में सेमुअल हानेमन ने शुरू किया था। यह पद्धति “समरूपता के सिद्धांत” पर आधारित है। इस चिकित्सा पद्धति के अनुसारदवाएं उन रोगों से मिलते-जुलते रोगों को दूर कर सकती है, जिन्हें वे उत्पन्न कर सकती हैं।

क्रिस्चियन फ्रेडरिक सेमुअल हानेमन

क्रिस्चियन फ्रेडरिक सेमुअल हानेमन एक जर्मन फिजिशियन थे, उन्हें होमियोपैथी के विकास के लिए जाना जाता है। उनका जन्म 10 अप्रैल, 1755 को जर्मनी में ड्रेस्डेन के निकट सैक्सनी में हुआ था। उनका निधन 1843 में पेरिस में हुआ था।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement