इंद्र

आज से शुरू हो रहा है टाइगर ट्राइंफ त्रि-सेवा अभ्यास

अमेरिका और भारत के बीच त्रि-सेवा अभ्यास ‘टाइगर ट्राइंफ’ का आयोजन आंध्र प्रदेश में किया जा रहा है। इस अभ्यास की शुरुआत आज 13 नवम्बर, 2019 को हो रही है। इस अभ्यास का आयोजन आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम तथा काकीनाडा में किया जायेगा। इस अभ्यास का समापन 21 नवम्बर, 2019 को होगा।

यह ऐसा दूसरा अवसर होगा जब भारत थल सेना, नौसेना तथा वायुसेना सहित किसी दूसरे देश के साथ त्रि-सेवा सैन्य अभ्यास करेगा, इससे पहले भारत ने 2017 में रूस के व्लादिवोस्टोक में त्रि-सेवा युद्ध अभ्यास ‘इंद्र’ में हिस्सा लिया था।

टाइगर ट्राइंफ त्रि-सेवा अभ्यास

यह भारत और अमेरिका के बीच प्रथम त्रि-सेवा अभ्यास होगा। इसका मुख्य फोकस मानवीय सहायता तथा आपदा राहत ऑपरेशन होगा। इसका आयोजन बंगाल की खाड़ी के साथ पूर्वी तट पर किया जायेगा। इसका आयोजन इंटीग्रेटेड डिफेन्स स्टाफ के तहत किया जायेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

इंद्र नौसेना अभ्यास 18: भारतीय और रूसी नौसेनाओं के बीच युद्ध अभ्यास का समापन हुआ

भारत और रूस की नौसेनाओं के बीच “इंद्र नौसेना” युद्ध अभ्यास का 10वां संस्करण आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में समाप्त हुआ। इस युद्ध अभ्यास का उद्देश्य दोनों नौसेनाओं के बीच इंटरओपेराबिलिटी को बढ़ावा देना तथा समुद्री सुरक्षा ऑपरेशन के सम्बन्ध में आपसी समझ को विकसित करना था।

इंद्र नौसेना 2018

इस युद्ध अभ्यास का आयोजन दो चरणों में किया गया। पहले चरण का का आयोजन विशाखापत्तनम में किया गया, इसमें योजना, प्रोफेशनल इंटरेक्शन, सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेल-कूद कार्यक्रम इत्यादि का आयोजन किया गया। इस अभ्यास के समुद्री चरण का आयोजन बंगाल की खाड़ी में किया गया। इस अभ्यास का मुख्य केंद्र पनडुब्बी विरोधी कार्यवाही, हवाई सुरक्षा ड्रिल, सतही गोलीबारी, विजिट बोर्ड सर्च एंड सीज़र ऑपरेशन है।

इस युद्ध अभ्यास में भारतीय नौसेना की ओर से गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर आईएनएस रणवीर, स्वदेशी फ्रिगेट आईएनएस सतपुड़ा, स्वदेशी पनडुब्बी रोधी युद्धक प्रणाली कोर्वेट आईएनएस कद्मत्त, आईएनएस सिंधुघोष पनडुब्बी, डोर्निएर समुद्री गश्ती एयरक्राफ्ट, फ्लीट टैंकर आईएनएस ज्योति, हॉक लड़ाकू विमान इत्यादि ने हिस्सा लिया। इसमें रूसी नौसेना की ओर से वर्याग, एडमिरल पंतेलेयेव तथा बोरिस बुतोमा जैसे पोत ने हिस्सा लिया।

पृष्ठभूमि

भारतीय नौसेना रूसी नौसेना के साथ विभिन्न गतिविधियों में शामिल होती है, इसमें ऑपरेशनल इंटरेक्शन, प्रशिक्षण, हाइड्रोग्राफ़िक ऑपरेशन इत्यादि प्रमुख है। इंद्रा नौसेना अभ्यास की शुरुआत वर्ष 2003 में हुई थी, तत्पश्चात इस युद्ध अभ्यास के आकार व क्षेत्र में काफी वृद्धि हुई है। इस युद्ध अभ्यास से दोनों देशों की नौसेनाओं के कौशल तथा समन्वय में वृद्धि होगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement