इस्लाम

सऊदी अरब ने भारत के हज कोटे में 30,000 की वृद्धि की

सऊदी अरब ने भारत के हज होते में 30,000 की वृद्धि कर दी है, अब भारत का कोटा 1,70,000 से बढ़कर 2 लाख व्यक्ति प्रति वर्ष हो गया है। इसके साथ ही सऊदी अरब के मक्का की यात्रा के लिए अधिक भारतीय मुस्लिम जा सकेंगे।

मुख्य बिंदु

2018 में सऊदी अरब ने भारत के हज कोटे में 5000 की वृद्धि की थी। 2017 में सऊदी अरब ने भारत के हज कोटे में 35,000 की वृद्धि की थी। पिछले वर्ष भारत सरकार ने 2012 के सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुरूप हज सब्सिडी को समाप्त कर दिया था। भारत सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को बिना मेहरम (पुरुष साथी)  के हज यात्रा करने की अनुमति दी थी, इसके बाद 1300 महिलाओं ने बिना पुरुष साथी के हज यात्रा की थी।

हज

यह मक्का में की जाने वाली एक वार्षिक मुस्लिम धार्मिक यात्रा है। मक्का सऊदी अरब के हेजाज़ी क्षेत्र में स्थित है। यह मुसलमानों के लिए पवित्र शहर है। हज यात्रा सभी मुसलमानों के लिए अनिवार्य है, शारीरिक तथा आर्थिक रूप से सक्षम सभी मुसलमानों को यह यात्रा अपने जीवन में कम से कम एक बार करनी होती है। यह यात्रा इस्लामिक कैलंडर के अंतिम महीने धू अल-हिज्जाह की 8-12 तारीख के दौरान की जाती है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement