ऑस्टिन विश्वविद्यालय

इसरो ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने हाल ही में नैनीताल के आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ ऑब्जर्वेशन साइंस (ARIES) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

मुख्य बिंदु

इसरो और ARIES ने अंतरिक्ष स्थिति जागरूकता और खगोल भौतिकी के क्षेत्र में सहयोग पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। अंतरिक्ष स्थिति जागरूकता में अंतरिक्ष पिंड ट्रैकिंग, अंतरिक्ष कक्षा विश्लेषण और अंतरिक्ष मौसम अध्ययन शामिल हैं। इस समझौते का मुख्य उद्देश्य भारतीय अंतरिक्ष परिसंपत्तियों को अंतरिक्ष मलबे के खतरों से बचाना है।

इसरो ने टेक्सास और ऑस्टिन विश्वविद्यालय के साथ पहले भी इसी तरह के समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

स्पेस सिचुएशन अवेयरनेस

भारत के अनुसार, अंतरिक्ष संपत्ति देश की शक्ति और प्रतिष्ठा में प्रमुख भूमिका निभाती है। अंतरिक्ष में वस्तुओं की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। आज कक्षा में 19,432 से अधिक वस्तुएं हैं। इनमें से केवल 2,216 सक्रिय उपग्रह हैं।

स्पेस सिचुएशन अवेयरनेस के तहत, भारत मलबे पर नज़र रखने, टक्कर से बचने, उपग्रह विसंगति का पता लगाने, अंतरिक्ष मौसम स्टेशन से खतरों की निगरानी, ​​क्षुद्रग्रहों और उल्कापिंडों से खतरों की भविष्यवाणी पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement