केंद्र सरकार

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को पेंशन प्राप्त करने के लिये आधार कार्ड होना अनिवार्य नहीं

कार्मिक राज्य मंत्री ने यह स्पष्ट किया की केंद्र सरकार के कर्मचारियों को पेंशन प्राप्त करने के लिये आधार कार्ड होना अनिवार्य नहीं होगा। हाल ही में स्वैच्छिक एजेंसियों की स्थायी समिति की 30वीं बैठक में कार्मिक राज्य मंत्री ने यह जानकारी दी। जीवन प्रमाणपत्र जमा करने के लिये प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जा सकता है। इसके लिये बैंकों में जाने की जरूरत नहीं होगी । कुछ सेवानिवृत्त कर्मचारियों को आधार नहीं होने के कारण अपने बैंक खातों में पेंशन प्राप्त करने में कठिनाई हो रही थी। इस सन्दर्भ में आधार कार्ड को लेकर यह घोषणा महत्वपूर्ण है।

आधार कार्ड

भारत के नागरिकों को आधार कार्ड भारत सरकार द्वारा जारी किया जाने वाला पहचान पत्र है। इसमें 12 अंकों की एक विशिष्ट संख्या होती है जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (भा.वि.प.प्रा.) जारी करता है। यह संख्या, व्यक्ति की पहचान और पते का प्रमाण होती है ।

कुछ प्रमुख सेवाओं तथा कार्यो में आधार कार्ड की अनिवार्यता

पासपोर्ट जारी करने के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया गया है।
जनधन खाता खोलने के लिये अनिवार्य कर दिया गया है।
एलपीजी की सबसीडी पाने के लिये अनिवार्य कर दिया गया है।
ट्रेन टिकट में छूट पाने के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।
परीक्षाओं में बैठने के लिये (जैसे आईआईटी जेईई के लिये)
बच्चों को नर्सरी कक्षा में प्रवेश दिलाने के लिये अनिवार्य कर दिया गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

इलेक्ट्रॉनिक नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट को अतिरिक्त 200 मंडियों से जोड़ेगी सरकार

केंद्र सरकार इस वित्त वर्ष (2018-19) में ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफार्म ईएनएएम (इलेक्ट्रॉनिक नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट) को अतिरिक्त 200 थोक मंडियों को जोड़ने जा रही है जो अंतर-मंडी लेनदेन को भी प्रोत्साहित करती है। वर्तमान में, 14 राज्यों में 585 विनियमित मंडी ईएनएएम से जुडी हुई हैं। अब तक, 73.50 लाख किसान, 53,163 कमीशन एजेंट और 1 लाख से अधिक व्यापारी 14 राज्यों से इससे पंजीकृत हैं। सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि सभी थोक कृषि-मंडी ऑनलाइन नीलामी को अपनाएं और धीरे-धीरे राज्य में मंडियों के बीच व्यापार और अंततः राज्यों के बाहर मंडियों के बीच व्यापार की अनुमति दें, जिससे किसानों के लाभ हेतु एकल राष्ट्रीय कृषि बाजार स्थापित किया जा सके।

ई एनएएम (इलेक्ट्रॉनिक नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट)

ईएनएएम कृषि उपज के लिए अखिल भारतीय इलेक्ट्रॉनिक व्यापार पोर्टल है इसका लक्ष्य कृषि वस्तुओं के लिए बाजारों को एकीकृत करके मौजूदा कृषि उत्पादन बाजार समिति (एपीएमसी) द्वारा एकीकृत राष्ट्रीय बाजार बनाना है। यह सभी एपीएमसी से संबंधित सेवाओं और सूचनाओं के लिए एकल खिड़की सेवा (single window service) प्रदान करता है, जैसे कमोडिटी आगमन और कीमतें, व्यापार प्रस्तावों का जवाब देने के प्रावधान, अन्य सेवाओं के बीच व्यापार प्रस्तावों को खरीदने और बेचने के लिए प्रावधान आदि शामिल है। इसे अप्रैल 2016 में लॉन्च किया गया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement