के.एस. वेंकटेश

IIT कानपुर के वैज्ञानिकों ने पैरालाइज्ड स्ट्रोक से पीड़ित लोगों के लिए दो ऊँगली वाले रोबोटिक हाथ का निर्माण किया  

IIT कानपुर के वैज्ञानिकों ने दो ऊँगली वाले रोबोटिक हाथ का निर्माण किया है, इससे पैरालाइज्ड स्ट्रोक से पीड़ित लोगों को काफी सहूलियत होगी। इस कार्य के लिए प्रोफेसर आशीष दत्ता तथा प्रोफेसर के.एस. वेंकटेश ने अपने अध्यापक गिरिजेश प्रसाद के साथ मिलकर यूनिवर्सिटी ऑफ़ अल्स्टर (यूनाइटेड किंगडम में स्थित) के साथ साझेदारी की। इस डिवाइस का उपयोग रोगी के हाथ पर किया जा सकता है।

यह डिवाइस मस्तिष्क के सिग्नल का उपयोग करती है, इसमें ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफ़ेस का उपयोग किया गया है। इसके द्वारा व्यक्ति अपने अंगूठे तथा उँगलियों का उपयोग कर सकता है, इस डिवाइस में 300 Mhz के MEGA माइक्रोकंट्रोलर का उपयोग किया गया है, इसमें बैटरी का उपयोग किया जाता है। इस डिवाइस की लागत लगभग 15,000 रुपये है।

IIT कानपुर

IIT कानपुर उत्तर प्रदेश में स्थित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान है, इसे भारत सरकार द्वारा तकनीक संस्थान अधिनियम के तहत राष्ट्रीय महत्त्व का संस्थान घोषित किया गया है। इसकी स्थापना 1959 में की गयी थी। इसका आदर्श वाक्य “तमसो मा ज्योतिर्गमय” है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement