कॉमन सर्विस सेंटर

कॉमन सर्विस सेंटर ने फास्टैग के लिए पेटीएम पेमेंट्स बैंक के साथ साझेदारी की

कॉमन सर्विस सेंटर ने फास्टैग के विक्रय के लिए पेटीएम पेमेंट्स बैंक के साथ साझेदारी की है। फास्टैग को अब सभी वाहनों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। कॉमन सर्विस सेंटर अपने Village Level Entrepreneurs (VLEs) के द्वारा फास्टैग का विक्रय करेंगे।

FASTag क्या है?

FASTag इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रहण प्रणाली है, इसका संचालन राष्ट्रीय उच्चमार्ग प्राधिकरण (NHAI) द्वारा किया जा रहा है। FASTag के द्वारा टोल प्लाजा में रुके बिना ही व्यक्ति के खाते से टोल चार्ज अपने आप कट जायेगा, अब टोल कर अदा करने के लिए गाड़ी रोकने की ज़रुरत नहीं पड़ेगी।

FASTag एक प्रीपेड अकाउंट से जुड़े हुए होते हैं, इसके द्वारा टोल प्लाजा से गुजरते हुए व्यक्ति के खाते से टोल अपने आप ही कट जायेगा। FASTag के लिए रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है।

FASTag की विशेषताएं

  • FASTag को ग्राहक अपनी पसंद के बैंक खाते से लिंक कर सकते हैं।
  • इससे ग्राहकों को काफी सुविधा होगी।
  • FASTag एप्प की सहायता से किसी भी FASTag को रिचार्ज किया जा सकता है।
  • बाद में FASTag का उपयोग पेट्रोल पंप पर इंधन को खरीदने के लिए भी किया जा  सकता है।

रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी (RFID)

रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड का उपयोग करता है, यह उन टैग्स को डिटेक्ट करता है जिनमे इलेक्ट्रानिकली सूचना स्टोर की जाती है।

एक द्वि-मार्गीय रेडियो ट्रांसमीटर-रिसीवर टैग के लिए सिग्नल भेजता है तथा उसकी प्रतिक्रिया का अध्ययन करता है। RFID रीडर टैग के लिए एक एनकोडेड रेडियो सिग्नल भेजता है। टैग इस सिग्नल को रिसीव करता है तथा अपनी पहचान के साथ कुछ और सूचना को वापस भेजता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

उन्नत भारत अभियान के लिए ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड ने IIT कानपूर के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये

ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड ने हाल ही में “उन्नत भारत अभियान” के लिए IIT कानपूर के साथ समझौता किया है। “उन्नत भारत अभियान” केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की पहल है। उन्नत भारत अभियान के लिए IIT कानपूर में उत्तर प्रदेश के 15 प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थानों को एकत्रित किया है। यह सभी संस्थान कॉमन सर्विस सेंटर के साथ मिलकर गाँव के विकास के लिए कार्य करेंगे। IIT कानपूर ने पांच गाँवों को गोद लिया है : हृदयपुर, बैकंथपुर, ईश्वरगंज, प्रतापपुर हरी तथा सक्सुपुर्वा। यह गाँव कानपूर के निकट स्थित है।

उन्नत भारत अभियान

इस अभियान का उद्देश्य एक उच्च शिक्षण संस्थान को कम से कम पांच गाँवों से जोड़ना है, जिससे  गाँव में आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन संभव हो सके। इस योजना के तहत यह उच्च शिक्षण संस्थान गाँवों में विकास गतिविधियों में हिस्सा लेते हैं।

योजना के प्रमुख लक्ष्य

  • उच्च शिक्षण संस्थान के अध्यापकों व छात्रों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के जानकारी प्राप्त करना।
  • ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान के लिए नवीन तकनीकों का उपयोग करना।
  • सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए उच्च शिक्षण संस्थानों द्वारा योगदान देना।

यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में विकास प्रक्रिया को तेज़ी देने तथा मूलभूत परिवर्तन लाने के उद्देश्य से प्रेरित है। इसके लिए देश के बड़े शिक्षण संस्थानों के ज्ञान व साधनों का उपयोग किया जायेगा। इससे देश के सर्वांगीण विकास में गाँव भी भागीदार बन सकेंगे। इस योजना के तहत उच्च शिक्षण संस्थानों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के जीवन स्तर, समस्याओं व आवश्यकताओं के बारे में अध्ययन किये जायेगा तथा समस्याओं के समाधान के लिए उपाय भी सुझाए जायेंगे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement