कोरोनावायरस

विश्व स्वास्थ्य संगठन COVID-19 की हैंडलिंग में स्वतंत्र जांच करवाएगा

19 मई, 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने घोषणा की कि वह COVID-19 महामारी से निपटने में स्वतंत्र समीक्षा शुरू करेगा। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन “Resolution on COVID-19 response” लॉन्च करेगा।

मुख्य बिंदु

इस समीक्षा का मुख्य उद्देश्य COVID -19 की उत्पति से सम्बंधित अंतर्राष्ट्रीय दोषारोपण को समाप्त करना है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित 73 वें विश्व स्वास्थ्य सभा इस प्रस्ताव पर चर्चा की गयी। इसमें भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने किया।

प्रस्ताव

लगभग 116 देशों ने स्वतंत्र समीक्षा के प्रस्ताव का समर्थन किया। भारत ने भी इस संकल्प का समर्थन किया। इस संकल्प का विचार ऑस्ट्रेलिया द्वारा शुरू किया गया था। हालाँकि, प्रस्ताव को यूरोपीय संघ द्वारा ड्राफ्ट किया गया था। चीन ने इस प्रस्ताव का विरोध किया था।

अब तक उपलब्ध जानकारी के अनुसार, COVID-19 एक जूनोटिक बीमारी है जो जानवरों से मनुष्यों में फैलती है। इसका प्रकोप चीन के वुहान से शुरू हुआ और तेजी से पूरी दुनिया में फैल गया है। विभिन्न देशों ने संकट से निपटने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाए हैं। यह भी जांच का एक हिस्सा होना है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

मलेरिया, टीबी और एड्स के मामलों में वृद्धि होगी : विश्व स्वास्थ्य संगठन

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने घोषणा की कि टीबी, एड्स और मलेरिया के कारण होने वाली मौतों की संख्या में वृद्धि हो सकती है क्योंकि पूरी दुनिया में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली का पूरा ध्यान COVID -19 की ओर बढ़ रहा है।

मुख्य बिंदु

डब्ल्यूएचओ ने जॉन्स होप्स यूनिवर्सिटी और International Union against Tuberculosis and Lung Disease के साथ किए गए अध्ययन के आधार पर यह घोषणा की है।

मुख्य निष्कर्ष

इस अध्ययन के अनुसार, भारत में 2020 और 2025 के बीच हर महीने के लॉक डाउन से 40,685 अतिरिक्त मौतें होंगी। ये मौतें केवल तपेदिक के कारण होने वाली हैं। पूरे विश्व में इसके कारण केन्या को अधिकतम मौत का सामना करना पड़ेगा इसके बाद यूक्रेन और भारत में सर्वाधिक मौतें होंगी।

मलेरिया और एड्स

COVID-19 की स्थिति मलेरिया संक्रमण की संख्या को दोगुना कर देगी। साथ ही, बच्चों की जांच न होने की भी संभावनाएं हैं। एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी में लगातार व्यवधान होते हैं जो एड्स के कारण होने वाली मौतों में वृद्धि करेंगे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement