खाद्य और कृषि संगठन

21 मई : अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस

प्रतिवर्ष  21 मई को संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस मनाता है। अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस मनाने का संकल्प 2019 में संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन द्वारा अपनाया गया था।

इतिहास

अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस 2005 से दुनिया के प्रमुख चाय उत्पादक देशों जैसे श्रीलंका, भारत, इंडोनेशिया, वियतनाम, बांग्लादेश, नेपाल, केन्या, मलेशिया, मलावी, युगांडा और तंजानिया में मनाया जा रहा है। इसका उद्देश्य वैश्विक चाय व्यापार के प्रभाव के बारे में नागरिकों और सरकारों का ध्यान आकर्षित करना है।

उद्देश्य

इस दिवस का मुख्य लक्ष्य चाय के स्थायी उत्पादन को बढ़ावा देना, गरीबी और भूख से लड़ने में जागरूकता बढ़ाना है।

चाय पर अंतर सरकारी समूह

खाद्य और कृषि संगठन के तहत चाय के अंतर सरकारी समूह ने 2015 में अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस की अवधारणा का प्रस्ताव रखा था।

सतत विकास लक्ष्य

चाय उत्पादन निम्नलिखित लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करता है :

  • लक्ष्य 1: गरीबी को कम करना
  • लक्ष्य 2: भूख से लड़ने में सहायता
  • लक्ष्य 5: महिलाओं का सशक्तीकरण
  • लक्ष्य 15: स्थलीय पारिस्थितिकी प्रणालियों का सतत उपयोग

महत्व

चाय उत्पादन जलवायु परिवर्तन के प्रति संवेदनशील है। चाय का उत्पादन केवल कृषि-पारिस्थितिक स्थितियों में किया जा सकता है। बहुत सीमित देश हैं जो चाय का उत्पादन करते हैं।  इसलिए, चाय उत्पादक देशों को अपने चाय उत्पादन के साथ-साथ जलवायु चुनौतियों को एकीकृत करना चाहिए।

भारत

भारत चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा चाय उत्पादक देश है। साथ ही, भारत दुनिया में चाय का सबसे बड़ा उपभोक्ता है। भारत लगभग 30% वैश्विक चाय उत्पादन का उपभोग करता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

कोरोना वायरस पर G-20 वीडियो शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा

सऊदी अरब के शासक सलमान वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोरोना वायरस पर G-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन 26 मार्च, 2020 को किया जाएगा। इस शिखर सम्मेलन में कई अंतर्राष्ट्रीय संगठन हिस्सा लेंगे। भारत भी G-20 का सदस्य है।

अंतरराष्ट्रीय संगठन

इस शिखर सम्मेलन में कई  अंतर्राष्ट्रीय संगठन लेंगे। इनमें विश्व स्वास्थ्य संगठन, खाद्य और कृषि संगठन, विश्व व्यापार संगठन, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, आसियान, आर्थिक सहयोग व विकास संगठन, खाड़ी सहयोग परिषद् और NEPAD (New Partnership for Africa’s Development) शामिल हैं।

महत्व

इस सम्मेलन में भारत की ओर से प्रधानमंत्री मोदी हिस्सा लेंगे। इस सम्मेलन में कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए वैश्विक नेता रणनीति बनाएंगे। गौरतलब है कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार इस वर्ष के लिए वैश्विक विकास नकारात्मक है। भविष्य में एक बड़े वित्तीय संकट के आने के आसार हैं। इस स्थिति के लिए G-20 ने  ” A Moment for Solidarity” का सुझाव दिया है। G-20 देशों  के वित्त मंत्रियों के बीच इस विषय के आधार पर एक बैठक पहले ही आयोजित की जा चुकी है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , , , ,

Advertisement