चेक गणराज्य

हिमा दास ने 15 दिन के भीतर चौथा स्वर्ण पदक जीता

भारत की हिमा दास ने 15 के भीतर चौथा स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया है, यह पदक उन्होंने चेक गणराज्य में 200 मीटर की दौड़ में जीता। उन्होंने 200 मीटर की इस दौड़ को मात्र 23.25 सेकंड में पूरा किया।

हिमा दास

हिमा दास का जन्म 9 जनवरी, 2000 को असम के नागाओं जिले में कन्धुलिमारी गाँव में हुआ था। उनके पिताजी पेशे से किसान हैं और चावल की खेती करते हैं। हाल ही में संपन्न एशियाई खेलों में हिमा दास ने 400 मीटर की फाइनल दौड़ में क्वालीफाई करने के लिए 51.00 के समय के साथ राष्ट्रीय रिकॉर्ड स्थापित किया था। इस स्पर्धा में उन्होंने 50.79 की टाइमिंग के साथ रजत पदक जीता। एशियाई खेल 2018 में उन्होंने महिलाओं की 4X400 मीटर रिले में स्वर्ण पदक जीता था। एशियाई खेलों में ही उन्होंने मिश्रित 4X400 मीटर रालय में रजत पदक जीता था। IAAF अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2018 में उन्होंने ट्रैक इवेंट में स्वर्ण पदक जीता था, वे यह उपलब्धि प्राप्त करने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

भारत और चेक गणराज्य ने किये 5 समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत और चेक गणराज्य ने रक्षा, वैज्ञानिक व औद्योगिक अनुसन्धान, लेज़र टेक्नोलॉजी, कृषि व कूटनीतिक वीजा के क्षेत्र में पांच समझौतों पर हस्ताक्षर किये। इन समझौतों पर भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और चेक गणराज्य के राष्ट्रपति मिलोस जेमन के बीच वार्ता के बीच चेक गणराज्य की राजधानी प्राग में हस्ताक्षर किये गये। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तीन यूरोपीय देशों – सायप्रस, बुल्गारिया और चेक गणराज्य की यात्रा पर हैं, चेक गणराज्य उनकी यूरोप यात्रा का अंतिम पड़ाव है।

पांच समझौते

भारत की वैज्ञानिक व औद्योगिक अनुसन्धान परिषद् (CSIR) और चेक विज्ञान अकादमी के बीच सहयोग के लिए समझौता।

विज्ञान व टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भारतीय-चेक परियोजनाओं का क्रियान्वयन, भारत की ओर से इसमें विज्ञान व तकनीक विभाग हिस्सा लेगा।

कूटनीतिक पासपोर्ट धारकों को वीज़ा से छूट।

टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ फंडामेंटल रिसर्च (TIFR) और ELI Beamlines के बीच लेज़र टेक्नोलॉजी में सहयोग के लिए समझौता।

हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय तथा चेक जैव विज्ञान विश्वविद्यालय के बीच सहयोग के लिए समझौता।

इसके अतिरिक्त दोनों देशों ने नागरिक परमाणु उर्जा क्षेत्र में सहयोग पर भी सहमती प्रकट की। भारत इस ओर से इस प्रस्तावित समझौते पर ग्लोबल सेंटर फॉर न्यूक्लियर एनर्जी पार्टनरशिप, झज्जर (हरियाणा) द्वारा हस्ताक्षर किये जायेंगे।

Categories:

Month:

Tags: , ,

Advertisement