जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय

थानु पद्मनाभन ने जीता एम.पी. बिरला मेमोरियल अवार्ड

62 वर्षीय भौतिकशास्त्री व खगोलशास्त्री थानु पद्मनाभन को हाल ही में एम.पी. बिरला मेमोरियल अवार्ड प्रदान किया गया। उन्हें यह सम्मान खगोल विज्ञान के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए दिया जा रहा है।

थानु पद्मनाभन

थानु पद्मनाभन पुणे की इंटर-यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स में प्रोफेसर हैं। इससे पहले उन्हें शांति स्वरुप भटनागर पुरस्कार तथा पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने सापेक्षता, गुरुत्वाकर्षण तथा खगोलशास्त्र के क्षेत्र में कार्य किया। वे IISER (मोहाली), IISER (त्रिवेंद्रम) तथा जामिया मिलिया इस्लामिया से भी जुड़े हुए है।

एम.पी. बिरला मेमोरियल अवार्ड

एम.पी. बिरला मेमोरियल अवार्ड की स्थापना 1993 में की गयी थी, यह अवार्ड अन्तरिक्ष विज्ञान, खगोल-भौतिकी तथा खगोल विज्ञान के क्षेत्र में योगदान के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार के विजेता को एक ट्रॉफी  तथा 2,51,000 रुपये प्रदान किये जाते हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

नजमा अख्तर बनीं जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की पहली महिला वाईस-चांसलर

केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने हाल ही में नजमा अख्तर को जामिया मिलिया इस्लामिया की वाईस-चांसलर नियुक्त किये जाने के बारे में वक्तव्य जारी किया। नजमा अख्तर को राष्ट्रपति द्वारा पांच वर्ष के लिए नियुक्त किया गया है, वे इस पद पर नियुक्त की जाने वाली पहली महिला हैं।

प्रोफेसर नजमा अख्तर अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय से स्वर्ण पदक विजेता हैं। उन्होंने शिक्षा में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है। वे यूनिवर्सिटी ऑफ़ वार्विक एंड नॉटिंगहम में कामनवेल्थ फेलो भी रही हैं। उन्होंने पेरिस में यूनेस्को के अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा नियोजन संस्थान में भी प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय नई दिल्ली में स्थित एक सार्वजनिक केन्द्रीय विश्वविद्यालय है। इसकी स्थापना 29 अक्टूबर, 1920 को मुस्लिम नेताओं द्वारा ब्रिटिश शासन के दौरान की गयी थी। डॉ. जाकिर हुसैन इस विश्वविद्यालय के प्रथम वाईस चांसलर थे। मौलाना अली जौहर तथा मौलाना शौकत अली ने इस विश्वविद्यालय की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जामिया मिलिया इस्लामिया को भारतीय संसद ने 1988 में एक अधिनियम के द्वारा केन्द्रीय विश्वविद्यालय बनाया गया था। मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्लाह इस विश्वविद्यालय की चांसलर हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement