दिल्ली

लगभग 2 लाख लोगों ने स्वयं को दिल्ली सरकार के रोज़गार पोर्टल पर पंजीकृत करवाया

नियोक्ताओं और नौकरी चाहने वालों को एक साथ लाने के लिए एक पोर्टल लॉन्च करने के कुछ दिनों के भीतर, पोर्टल ने 4294 नियोक्ताओं द्वारा लगभग 1.01 लाख रिक्तियां देखी हैं और लगभग 1.89 लाख नौकरीपेशा लोग जॉब पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण कर रहे हैं।

मुख्य बिंदु

यह नौकरी पोर्टल, jobs.delhi.gov.in पर, भर्ती करने वालों और राजधानी में नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए एक ‘रोज़गार बाजार’ के रूप में काम करेगा।

यह पोर्टल उन व्यापारियों, पेशेवरों, ठेकेदारों, आदि के मुद्दों को हल करने जा रहा है, जिन्हें अपने काम करने के लिए पर्याप्त संख्या में श्रमिक नहीं मिल रहे हैं। यह पोर्टल उस अंतर को भर देगा। चूंकि कई प्रवासी कामगार लॉकडाउन के दौरान दिल्ली छोड़ चुके हैं, इसलिए शहर में अब भी काम करने के लिए कोई नहीं है।

दिल्ली सरकार द्वारा शुरू किया गया पोर्टल नि: शुल्क है और एक आवेदक को प्लेटफॉर्म में पंजीकरण के लिए किसी को भी पैसे देने की आवश्यकता नहीं है। यह पोर्टल नौकरी करने वालों को फोन या व्हाट्सएप के माध्यम से नियोक्ताओं से जोड़ता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

खेलो इंडिया यूथ गेम्स के तीसरे संस्करण का समापन हुआ

2020 खेलों इंडिया यूथ गेम्स के तीसरे संस्करण का समापन गुवाहाटी में हो गया है। इसका आयोजन 10 जनवरी, 2020 से 22 जनवरी, 2020 के दौरान किया गया।

मुख्य बिंदु

खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2020 में महाराष्ट्र  ने सर्वाधिक 256 पदक जीते, इसमें 78 स्वर्ण पदक भी शामिल हैं। सर्वाधिक पदक जीतने के लिए महाराष्ट्र ने चैंपियंस ट्राफी भी अपने नाम की। पदक जीतने के मामले में हरियाणा 200 पदकों के साथ दूसरे स्थान पर है। दिल्ली 122 पदक जीत कर तीसरे स्थान पर रहा।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स

केन्द्रीय खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के दायरे को बढ़ाकर बड़ा कर दिया है, इन खेलों में अब दो श्रेणियों, अंडर 17 और अंडर 21 में प्रतिभागी हिस्सा ले सकते हैं। इसमें कॉलेज और विश्वविद्यालय के खिलाड़ी भी हिस्सा ले सकते हैं। इन खेलों में 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों से 10,000 से अधिक खिलाड़ी हिस्सा ले सकते हैं।

खेलो इंडिया कार्यक्रम

इसकी शुरुआत केन्द्रीय खेल व युवा मामले मंत्रालय द्वारा देश में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए की थी। इसका उद्देश्य देश  में खेले जाने वाले सभी खेलों को बढ़ावा देना तथा भारत को एक मज़बूत खेल राष्ट्र के रूप में तैयार करना है। इस कार्यक्रम से युवा खिलाड़ियों को अपने कौशल को बेहतर करने तथा अपने कौशल का प्रदर्शन करने का मौका मिलेगा। इन खेलों में प्रतिभावान खिलाड़ियों को चिन्हित किया जायेगा तथा प्रत्येक चुने गये खिलाड़ी को 8 वर्षों के लिए 5 लाख  रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

Advertisement