नागालैंड

नागालैंड में कोहिमा की लड़ाई की 75वीं वर्षगाँठ मनाई गयी

हाल ही में नागालैंड में कोहिमा की लड़ाई की 75वीं वर्षगाँठ मनाई गयी। इस अवसर पर एक इवेंट का आयोजन किया गया, इसमें जापान और यूनाइटेड किंगडम के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। कोहिमा की लड़ाई द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान 1944 में तीन चरणों में लड़ी गयी थी।

कोहिमा की लड़ाई

  • कोहिमा की लड़ाई द्वितीय विश्व युद्ध में 3 अप्रैल से 22 जून, 1944 के दौरान  तीन चरणों में लड़ी गयी थी।
  • 3 से 16 अप्रैल के दौरान जापान ने कोहिमा पहाड़ी को अपने कब्ज़े में करने का प्रयास किया।
  • 18 अप्रैल से 13 मई के दौरान ब्रिटिश तथा भारतीय बलों ने जापानी सैनिकों पर हमला करके उन्हें खदेड़ दिया। इसके बाद जापान ने कोहिमा रिज को छोड़ दिया परन्तु अभी भी जापानी सैनिकों ने कोहिमा-इम्फाल सड़क को रोक कर रखा हुआ था।
  • 16 मई से 22 जून के दौरान ब्रिटिश तथा जापानी सैनिकों को खदेड़ते हुए कोहिमा-इम्फाल सड़क को जापानी नियंत्रण से मुक्त करवाया।

इस युद्ध को “पूर्व का स्टॅलिनग्राद” भी कहा जाता है। कोहिमा इस युद्ध का प्रमुख रणक्षेत्र था। नागाओं ने दोनों पक्षों की ओर से युद्ध में हिस्सा लिया था।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

जस्टिस उमा नाथ सिंह बने नागालैंड के पहले लोकायुक्त

मेघालय उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायधीश जस्टिस उमा नाथ सिंह को नागालैंड का पहला लोकायुक्त नियुक्त किया गया है। वे पांच वर्ष अथवा 70 की आयु पूर्ण होने तक इस पद पर बने रहेंगे। उन्हें राजभवन में राज्यपाल पी.बी. आचार्य ने शपथ दिलाई।

मुख्य बिंदु

लोकायुक्त राज्यों में भ्रष्टाचार रोधी लोकपाल होता है। एक बार नियुक्ति किये जाने के पश्चात् लोकायुक्त को पद से ख़ारिज नहीं किया जा सकता और न ही सरकार द्वारा उसका स्थानांतरण किया जा सकता है। लोकायुक्त को राज्य विधानसभा द्वारा महाभियोग से हटाया जा सकता है। महाराष्ट्र ने सबसे पहले 1971 में लोकायुक्त तथा उपयुक्त अधिनियम के द्वारा लोकायुक्त की शुरुआत की थी। इसके बाद अन्य राज्यों ओडिशा, राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, गुजरात, केरल, तमिलनाडु तथा दिल्ली ने भी अनुसरण किया।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement