नितिन गडकरी

मोटर वाहन अधिनियम के कारण 5 महीनों में सड़क दुर्घटनाओं में 10% की कमी आई

16 मार्च, 2020 को परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यसभा को सूचित किया कि मोटर वाहन अधिनियम के पारित होने के बाद से सड़क दुर्घटनाओं में 10% की कमी आई है।

मुख्य बिंदु

प्रश्नकाल के दौरान नितिन गडकरी ने जवाब दिया कि भारत ने 5 वर्षों में 50% दुर्घटनाओं को कम करने का लक्ष्य रखा है। इसके अलावा भारत ने हाल ही में स्वीडन में आयोजित विश्व सुरक्षा सम्मेलन पर हस्ताक्षर किए।

भारत में दुर्घटनाओं की स्थिति

भारत में हर साल 5 लाख से ज्यादा दुर्घटनाएं होती हैं और 1.5 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान गंवाते हैं।

कानून का प्रभाव

जुलाई, 2019 में मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम, 2019 पारित होने के बाद देश में दुर्घटनाओं में 10% की कमी आई है। इससे लगभग 10,000 लोगों की जान बची है। सभी राज्यों में से, तमिलनाडु ने सड़क दुर्घटनाओं को कम करने में महत्वपूर्ण प्रगति की है। तमिलनाडु में पिछले 5 महीनों में दुर्घटनाओं में 24% की कमी आई है। गुजरात में  14%, आंध्र प्रदेश में 7% ,  उत्तर प्रदेश में 13% दुर्घटनाओं में कमी आई है।  केरल में दुर्घटनाओं में 4.9% और असम में 8% की वृद्धि हुई है।

मोटर वाहन अधिनियम

वर्तमान में मोटर वाहन अधिनियम समवर्ती सूची में है। इसका अर्थ है कि केंद्र और राज्यों दोनों इस अधिनियम में आवश्यक बदलाव कर सकते हैं।

भारत सरकार के उपाय

भारत के सड़क बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए विश्व बैंक ने 14,000 करोड़ रुपये तथा एशियाई विकास बैंक ने 7,000 करोड़ रुपये का अनुदान प्रदान किया है। इस धनराशी का उपयोग सड़क इंजीनियरिंग में सुधार लाने और ड्राइविंग में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए किया जायेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

जम्मू-कश्मीर में किया जायेगा 6.5 किलोमीटर लम्बी जेड-मोड़ सुरंग का निर्माण

NHIDCL (National Highways and Infrastructure Development Corporation) ने जम्मू-कश्मीर में 6.5 किलोमीटर लम्बी जेड-मोड़ टनल परियोजना APCO अमरनाथजी टनलवे प्राइवेट लिमिटेड को सौंपी, इस परियोजना की कुल लागत 2,379 करोड़ रुपये आएगी। इस परियोजना को 3.5 वर्ष में पूरा कर लिया जाएगा।

मुख्य बिंदु

इस परियोजना के लिए केन्द्रीय सड़क परिवहन व उच्चमार्ग मंत्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में NHIDCL और APCO अमरनाथजी टनलवे ने समझौते पर हस्ताक्षर किये।

पहले यह परियोजना IL&FS (Infrastructure Leasing & Financial Services) को आबंटित की गयी थी, परन्तु वित्तीय संकट के कारण यह कार्य पूर्ण नही हो सका। बाद में इस परियोजना के लिए पुनः 24 जून, 2019 को बिड आमंत्रित की गयी थी।

जेड-मोड़ टनल परियोजना के द्वारा जम्मू-कश्मीर में सोनमर्ग (प्रसिद्ध पर्यटन स्थल) को हर मौसम में कनेक्टिविटी बनी रहेगी। शीतकाल में बर्फ़बारी के कारण इस क्षेत्र का संपर्क बाहरी दुनिया से कट जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement