नेपाल

भारत नेपाल को स्कूलों के निर्माण के लिए 107.01 मिलियन रुपये उपलब्ध करवाएगा

16 मार्च, 2020 को भारत ने नेपाल में नए स्कूलों के निर्माण के लिए नेपाल के साथ ज्ञापन समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस समझौते के तहत भारत नेपाल को 107.01 मिलियन नेपाली रुपये उपलब्ध करवाएगा।

मुख्य बिंदु

भारत ने इस समझौते के प्रारंभिक चरण के रूप में 8 लाख भारतीय रुपये का चेक सौंपा। भारत-नेपाल विकास साझेदारी कार्यक्रम के द्वारा नेपाल में स्कूलों का निर्माण किया जाएगा। इस निर्माण कार्य में कपिलवस्तु जिला समन्वय समिति भी मदद करेगी।

जिला समन्वय समिति

जिला समन्वय समिति नेपाल का जिला-स्तरीय प्राधिकरण है। यह समिति प्रांतीय विधानसभा और ग्रामीण नगरपालिकाओं के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करती है। इस समिति के सदस्यों को पांच वर्ष की अवधि के लिए जिला विधानसभा द्वारा चुना जाता है। हर जिला समिति में 9 सदस्य होते हैं।

भारत-नेपाल सम्बन्ध

भारत और नेपाल का सदियों पुराना रिश्ता है जो उन्हें सांस्कृतिक, आर्थिक, सामाजिक और धार्मिक रूप से जोड़ता है। भारत-नेपाल रिश्तों की शुरुआत 1950 में शांति व मित्रता संधि के साथ शुरू हुई थी।

भारत और नेपाल के बीच हालिया अनबन

नेपाल और भारत दोनों अपने देश के हिस्से के रूप में “कालापानी” नामक क्षेत्र पर दावा करते हैं। नवंबर 2019 में कालापानी को भारतीय राजनीतिक मानचित्र में दर्शाए जाने से विवाद पैदा हो गया था।

कालापानी उत्तराखंड राज्य में है। नेपाल के साथ उत्तराखंड की 80 किलोमीटर सीमा है। इसके अलावा 2015 में नेपाल ने भारत पर सीमा नाकाबंदी लगाने का आरोप लगाया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

भारत और नेपाल ने जोगबनी-बिराटनगर सीमा पर इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट का उद्घाटन किया

भारतीय प्रधानमंत्री और नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली ने भारत और नेपाल के बीच जोगबनी-बिराटनगर सीमा पर इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री मोदी ने विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से इस चेक पोस्ट का उद्घाटन किया। यह ऐसा दूसरा इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट है जिसका निर्माण भारत की सहायता से किया गया है। पहली इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट का निर्माण रक्सौल-बिरगुंज सीमा पर 2018 में किया गया था।

इस चेक पोस्ट का निर्माण 260 एकड़ भूमि पर किया गया है, इसके निर्माण के लिए भारत ने 140 करोड़ रुपये की सहायता दी है।

चेक पोस्ट से यात्रियों तथा सामान की आवाजाही के लिए बेहतर सीमा प्रबंधन सुनिश्चित होता है।

इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट क्या है?

इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट भारत की सीमा पर व्यापार सहायता केंद्र हैं। यह केंद्र द्विपक्षीय व्यपार को बढ़ावा देते हैं तथा सीमा पर लोगों की आवाजाही में सहायता करते हैं।

भारत में कुल 7 इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट हैं, भारत सरकार 14 अन्य इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट के निर्माण की योजना बना रही है। सीमा पर भारत की इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट निम्नलिखित हैं :

भारत-पाकिस्तान : राजस्थान और पंजाब

भारत-म्यांमार : मणिपुर और मिजोरम

भारत-भूटान : पश्चिम बंगाल

भारत-बांग्लादेश : असम, मिजोरम, मेघालय, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement