पर्यटन मंत्रालय

पर्यटन मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है पर्यटन पर्व 2019 का आयोजन

केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय देश भर में 2 से 13 अक्टूबर, 2019 के दौरान पर्यटन पर्व 2019 का आयोजन कर रहा है। इसके द्वारा देशवासियों को अपने देश के विभिन्न पर्यटन स्थलों की यात्रा करने के लिए प्रेरित किया जायेगा।

पर्यटन पर्व

दिल्ली में पर्यटन पर्व का आयोजन 2-6 अक्टूबर, 2019 के दौरान राजपथ लॉन में में किया जा रहा है। पर्यटन पर्व 2019 का संस्करण महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती के प्रति समर्पित है। पर्यटन पर्व के द्वारा ‘देखो अपना देश’ के सन्देश को प्रचारित किया जायेगा। इसका उद्देश्य देशवासियों को अपने देश के विभिन्न क्षेत्रों को देखने के लिए प्रेरित करना है। इसके लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियाँ की जाती हैं, इसमें सोशल मीडिया में प्रचार, फोटोग्राफी कांटेस्ट, पर्यटन सम्बन्धी क्विज, चर्चा इत्यादि शामिल है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

स्वदेश दर्शन योजना : पर्यटन मंत्रालय ने केरल में क्रूज पर्यटन को बढ़ावा देने के किये 80.37 करोड़ रुपये मंज़ूर

पर्यटन मंत्रालय ने स्वदेश दर्शन स्कीम के अंतर्गत केरल में मलानद मालाबार क्रूज पर्यटन प्रोजेक्ट को मंज़ूरी दी है। इस प्रोजेक्ट के तहत पर्यटन मंत्रालय 80.37 करोड़ की लागत से तीन क्रूज जहाज़ विकसित करेगा।

मुख्य बिंदु

तीन क्रूज जहाज़ निम्नलिखित हैं :

मुथाप्पन क्रूज : यह क्रूज वलपटनम से शुरू होगी, 40 किलोमीटर की यात्रा करने के बाद यह मुनाम्बू कदावु में पहुंचेगी।

थेय्यम क्रूज : एक क्रूज वलपटनम में शुरू होगी और पझायंगड़ी तक जाएगी।

मेंग्रूव क्रूज : यह कुप्पम नदी में पझायंगड़ी से कुप्पम तक जाएगी।

इस प्रोजेक्ट में केरल की वलपटनम और कुप्पन नदियों के जल संसाधनों का उपयोग केरल में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा। यह क्रूज पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल के तहत चलायी जाएँगी। आधारभूत सरचना जैसे यात्री टर्मिनल, बोट टर्मिनल, फ़ूड कोर्ट, बायो शौचालय, wifi सुविधा, पेयजल इत्यादि के लिए पर्यटन मंत्रालय द्वारा फण्ड प्रदान किये जायेंगे।

स्वदेश दर्शन स्कीम

इस योजना को केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय ने देश में थीम बेस्ड पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लांच किया गया था। इसके लिए देश के प्रमुख पर्यटन सर्किट्स का विकास किया जायेगा। अब तक इस योजना के तहत 13 थीमेटिक पर्यटन सर्किट चिन्हित किये जा चुके हैं। यह पर्यटन सर्किट हैं – बुद्धिस्ट सर्किट, उत्तर-पूर्वी सर्किट, तटीय सर्किट, हिमालयन सर्किट, कृष्ण सर्किट, मरुस्थल सर्किट, इको सर्किट, वन्यजीव सर्किट, जनजातीय सर्किट, ग्रामीण सर्किट, आध्यात्मिक सर्किट, रामायण सर्किट व विरासत सर्किट।

यह योजना के लिए 100% फण्ड केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किये जाते हैं। इस प्रोजेक्ट के लिए राज्यों को उनके द्वारा तैयार की गयी प्रोजेक्ट रिपोर्ट के आधार पर फंडिंग प्रदान की जाती है। राज्यों की यह प्रोजेक्ट रिपोर्ट्स प्रोग्राम मैनेजमेंट कंसलटेंट द्वारा तैयार की जाती हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement