पर्सपेक्टिव एविएशन कॉम्प्लेक्स फॉर लॉन्ग रेंज एविएशन

रूस ने अपने पहले स्टेल्थ बॉम्बर विमान का निर्माण किया

रूस ने अपने पर्सपेक्टिव एविएशन कॉम्प्लेक्स फॉर लॉन्ग रेंज एविएशन (PAKDA) प्रोग्राम के तहत अपना पहला स्टेल्थ बॉम्बर विमान बनाया है।

मुख्य बिंदु

रूस वर्तमान में अपनी सेना का बहुत तेज गति से आधुनिकीकरण कर रहा है। स्टेल्थ बॉम्बर ऐसी ही एक उन्नति है। यह बमवर्षक विमान सुखोई Su-57 सुपरसोनिक फाइटर जेट के बाद दूसरी पीढ़ी का लड़ाकू विमान है।

PAKDA

इस स्टेल्थ बॉम्बर विमान का निर्माण PAKDA कार्यक्रम के तहत किया गया है। PAKDA कार्यक्रम रडार सिग्नेचर को कम करने के लिए नवीनतम तकनीकों का उपयोग करता है। यह रूसी हथियारों और बमवर्षकों को दुश्मनों के लिए अदृश्य बना देगा। PAKDA बॉम्बर की पहली परीक्षण उड़ान 2021-22 में आयोजित की जाएगी।

भारत रूस के सबसे बड़े रक्षा साझेदारों में से एक है।

भारत-रूस

भारत और रूस ने फरवरी, 2020 में 14 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। यह कार्य DefExpo 2020 के दौरान किया गया था। इसमें S400 मिसाइलों का उत्पादन, कामोव हेलीकॉप्टरों और कलाश्निकोव राइफलों का उत्पादन शामिल है।  रक्षा सौदे में सक्रिय प्रतिभागियों में एचएएल, डीआरडीओ, बीएचईएल आदि शामिल हैं। यह सौदा 16 बिलियन डालर का है। भारत रूस से Ka-226 हेलीकॉप्टर खरीदेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement