पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने डॉक्यूमेंट स्कैनिंग एप्प, COVID-19 मरीजों के लिए प्लाज्मा बैंक लांच किया

भारत के सबसे पुराने मेडिकल कॉलेज- कोलकाता मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में COVID-19 पॉजिटिव रोगियों के इलाज के लिए प्लाज्मा बैंक की स्थापना की गई है। प्लाज्मा बैंक को पश्चिम बंगाल राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोलकाता मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के प्रतिरक्षण विभाग की स्थापना की गई है।

इसकी सूचना पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा दी गयी, मुख्यमंत्री आगे कहा कि 12 व्यक्ति, जो COVID -19 से रिकवर हुए हैं, ने पहले से ही अपने प्लाज्मा दान किया है। कोलकाता मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में प्लाज्मा बैंक पश्चिम बंगाल राज्य में पहला प्लाज्मा बैंक है। 7 मई, 2020 के बाद, कोलकाता मेडिकल कॉलेज और अस्पताल 500 बिस्तरों के साथ एक पूरी तरह से विकसित COVID -19 अस्पताल के रूप में काम कर रहा है।

ममता बनर्जी द्वारा लांच किया गया सेल्फ स्कैन ऐप

केंद्र सरकार द्वारा 59 चीनी मोबाइल एप्लीकेशन पर प्रतिबंध के बाद पश्चिम बंगाल राज्य के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग ने एक स्कैनिंग मोबाइल एप्प विकसित की है जो चीनी एप्प कैम स्कैनर का विकल्प है।  मुख्यमंत्री ने ‘सेल्फ स्कैन’ मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च किया जो विभिन्न प्लेटफॉर्म पर मुफ्त उपलब्ध होगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

AIIB ने पश्चिम बंगाल की प्रमुख सिंचाई परियोजना के लिए 145 मिलियन डालर का ऋण स्वीकृत किया

15 मई, 2020 को एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक ने पश्चिम बंगाल में सिंचाई सुविधाओं और बाढ़ प्रबंधन को बेहतर बनाने के लिए 145 मिलियन डालर के ऋण को मंजूरी दी।

मुख्य बिंदु

यह परियोजना पश्चिम बंगाल की दामोदर घाटी पर केंद्रित है। इसका लाभ पश्चिम बंगाल के पांच जिलों में फैले 2.7 मिलियन से अधिक किसानों को मिलेगा। इस परियोजना का कुल मूल्य 413.8 मिलियन डालर है। एआईआईबी के अलावा, यह परियोजना IBRD (इंटरनेशनल बैंक ऑफ रिकंस्ट्रक्शन एंड डेवलपमेंट) द्वारा भी सह-वित्तपोषित है।

दामोदर नदी

यह नदी झारखंड और पश्चिम बंगाल में बहती है। इस नदी को “बंगाल का शोक” कहा जाता है। दामोदर नदी की कुछ प्रमुख सहायक नदियों में हाहारो, बराकर, बोकारो, कोनार, घारी, जमुनिया, खड़िया, गुईया और भीरा शामिल हैं।  यह नदी छोटा नागपुर पठार से होकर बहती है।

छोटा नागपुर पठार

यह पूर्वी भारत का एक पठार है। इसमें ओडिशा राज्य, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। पलामू टाइगर रिजर्व और संजय राष्ट्रीय उद्यान इस पठार में स्थित है। लगभग 6% पठार संरक्षित क्षेत्र में स्थित हैं।  यह पठार चूना पत्थर, लौह अयस्क, तांबा, बॉक्साइट, अभ्रक और कोयले जैसे खनिजों का प्रमुख भंडार गृह है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement