पोलियो

पाकिस्तान भारत से आयात करेगा पोलियो मार्कर

पाकिस्तान की सरकार ने भारत से पोलियो मार्कर आयात करने का निर्णय लिया है। गौरतलब है कि भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को निरस्त किये जाने के बाद पाकिस्तान सरकार ने भारत के व्यापार को निलंबित कर दिया था।

मुख्य बिंदु

विश्व में तीन देश ऐसे हैं जहाँ पर अभी भी पोलियो एक बड़ी बिमारी है, यह देश हैं पाकिस्तान, नाइजीरिया और अफ़ग़ानिस्तान। दिसम्बर, 2019 में पाकिस्तान के वाइल्ड पोलियो वायरस के 111 मामले दर्ज हैं। 2014 में पाकिस्तान में विश्व में सर्वाधिक पोलियो के मामले थे।

बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के बाद उनकी उँगलियों पर पोलियो मार्कर की सहायता से निशान लगाये जाते हैं।

भारत ने पोलियो को समाप्त करने के लिए 1995 में अभियान लांच क्या गया था, यह अभियान सफल रहा और भारत से पोलियो को समाप्त किया गया। भारत में पोलियो का अंतिम मामला 2011 में दर्ज किया गया था।

पोलियो

पोलियो एक संक्रामक रोग है, यह आमतौर पर पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को प्रभावित करता है। पोलियो का वायरस दूषित जल के द्वारा एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है। यह वायरस तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है, इससे कई मामलों में व्यक्ति पक्षाघात भी हो सकता है। हालांकि पोलियो का कोई इलाज नहीं है, परन्तु टीके की सहायता से इसके रोका सकता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

24 अक्टूबर: विश्व पोलियो दिवस

24 अक्टूबर को विश्व पोलियो दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य पोलियो का बारे में जागरूकता फैलाना तथा इसके उन्मूलन के लिए कार्य करना है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 1988 में वर्ष 2000 तक पोलियो को समाप्त करने का लक्ष्य रखा था।

पोलियो

पोलियो एक संक्रामक रोग है, यह आमतौर पर पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को प्रभावित करता है। पोलियो का वायरस दूषित जल के द्वारा एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है। यह वायरस तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है, इससे कई मामलों में व्यक्ति पक्षाघात भी हो सकता है। हालांकि पोलियो का कोई इलाज नहीं है, परन्तु टीके की सहायता से इसके रोका सकता है।

 विश्व स्वास्थ्य संगठन

विश्व स्वास्थ्य संगठन स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर आपसी सहयोग एवं मानक विकसित करने वाली संस्था है। यह संयुक्त राष्ट्र संघ की एक अनुषांगिक इकाई है। इसकी स्थापना 7 अप्रैल 1948 को की गयी थी। इसके 193 सदस्य देश तथा दो संबद्ध सदस्य हैं। इसका उद्देश्य विश्व के लोगो के स्वास्थ्य का स्तर ऊँचा करना है। स्विटजरलैंड के जेनेवा शहर में इसका मुख्यालय स्थित है। भारत भी इसका सदस्य देश है भारत की राजधानी दिल्ली में इसका भारतीय मुख्यालय स्थित है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement