प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया नेताजी संग्रहालय का उद्घाटन

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली में लाल किले के परिसर में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को समर्पित एक संग्राहलय का उद्घाटन किया, इसका उद्घाटन 23 जनवरी, 2019 को नेताजी की 122वें जयंती के अवसर पर किया गया। इस संग्राहलय में इंडियन नेशनल आर्मी की गतिविधियों तथा इतिहास से सम्बंधित चित्र प्रदर्शनी के लिए रखे गये हैं। इसके अतिरिक्त संग्रहालय में नेताजी की लकड़ी की कुर्सी, तलवार, मैडल, बैज तथा वर्दी भी प्रदर्शनी के लिए रखी गयी है।

23 जनवरी को महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर संसंद के सेंट्रल हॉल में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को श्रंद्धांजलि अर्पित की गयी।

सुभाष चन्द्र बोस

महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म 23 जनवरी, 1897 को ब्रिटिश भारत के कट्टक में हुआ था। आरंभ में वे कांग्रेस से जुड़े, 1938-39 के दौरान वे कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। बाद में कांग्रेस में मतभेद के कारण उन्होंने कांग्रेस से त्यागपत्र दिया तथा फॉरवर्ड ब्लॉक की स्थापना की। उन्होंने आजाद हिन्द फ़ौज के द्वारा देश को स्वतंत्र करने का प्रयास किया।

आजाद हिन्द फ़ौज की स्थापना 21 अक्टूबर, 1943 में सिंगापुर में की गयी थी। इसकी स्थापना निर्वासित भारतीयों द्वारा की गयी थी। इसकी स्थापना में रास बिहारी बोस की भूमिका काफी महत्वपूर्ण थी। इसकी स्थापना नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के विचारों से प्रेरित होकर की गयी थी। यह एक सशस्त्र सेना थी, जिसका उद्देश्य भारत को ब्रिटिश नियंत्रण से मुक्त करना था। सुभाष चन्द्र बोस इस फ़ौज के सर्वोच्च कमांडर थे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

प्रधानमंत्री मोदी ने यूगांडा की संसद को किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूगांडा दौरे के दौरान यूगांडा की संसद को संबोधित किया, यह ऐसा पहला मौका था जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने यूगांडा की संबोधित किया। अपना यूगांडा दौरे के दूसरे दिन उन्होंने यूगांडा की राजधानी कम्पाला में संसद को संबोधित किया।

मुख्य बिंदु

इस संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने महात्मा गाँधी के दक्षिण अफ्रीका में 21 वर्ष के प्रवास पर प्रकाश डाला। संसद में संबोधन के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भारत यूगांडा बिज़नेस फोरम में भाग लिया। इसमें भारत की ओर से भारतीय उद्योग संघ (CII) और यूगांडा की ओर से प्राइवेट सेक्टर फाउंडेशन ने हिस्सा लिया। हालांकि भारत-यूगांडा व्यापार अधिकतर भारत के पक्ष में है, परन्तु भारत ने यूगांडा से निर्यात को प्रोत्साहन दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस सन्दर्भ में आश्वासन दिया।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने यूगांडा को औद्योगिक उत्पादन के लिए जीरो डिफेक्ट मशीनरी देने की पेशकश की। प्रधानमंत्री मोदी के साथ यूगांडा के राष्ट्रपति मुसेवेनी ने भी भारत-यूगांडा बिज़नेस फोरम को संबोधित किया। उन्होंने दोनों देशों में व्यापार और निवेश बढाने पर बल दिया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement