प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने ‘माय लाइफ माय योगा’ प्रतियोगिता लांच की

31 मई, 2020 को प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता “माई लाइफ माई योगा” लॉन्च की। यह प्रतियोगिता आयुष मंत्रालय और ICCR (भारतीय सांस्कृतिक अनुसंधान परिषद) के संयुक्त प्रयास के रूप में आयोजित की जाएगी।

मुख्य बिंदु

यह प्रतियोगिता छठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  में भाग लेने वाले लोगों को प्रेरित करने के लिए शुरू की जा रही है। 6वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून, 2020 को मनाया जाएगा। इस प्रतियोगिता में  विश्व भर से कोई भी प्रतिभागी भाग ले सकता है।

इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए, प्रतिभागियों को आसन, क्रिया, बंध, प्राणायाम या मुद्रा जैसे योगिक अभ्यासों पर 3 मिनट का वीडियो अपलोड करना होगा। प्रतिभागियों को यह संदेश भी शामिल करना होगा कि कैसे योगिक प्रथाओं ने उनके जीवन को प्रभावित किया।

पहला, दूसरा और तीसरा पुरस्कार 1 लाख रुपये, 50,000 रुपये और 25,000 रुपये का घोषित किया गया है।

योग

भारत ने योगिक प्रथाओं को अपनाने के लिए भारत और दुनिया भर में लोगों को प्रेरित करने के लिए कई उपाय किए हैं। भारत ने 2014 में अंतर्राष्ट्रीय योग  दिवस मनाने के लिए  संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव प्रस्तुत किया। तब से 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

28 मई : स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की जन्म वर्षगाँठ

28 मई को स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर की जन्म वर्षगाँठ के रूप में मनाया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने विनायक दामोदर सावरकर को श्रद्धांजली अर्पित की और कहा कि देश  सदैव विनायक दामोदर सावरकर के बलिदान को याद रखेगा।

विनायक दामोदर सावरकर (1883-1966)

  • विनायक दामोदर सावरकर को वीर सावरकर के नाम से जाना जाता था, उनका जन्म 28 मई, 1883 को महाराष्ट्र के नासिक में हुआ था।
  • वे एक स्वतंत्रता सेनानी थे, उन्होंने 1887 की क्रांति को स्वतंत्रता का प्रथम युद्ध कहा था।
  • उन्होंने पुणे में अभिनव भारत सोसाइटी नामक संगठन की थी लन्दन में उन्होंने फ्री इंडिया सोसाइटी का गठन किया।
  • विनायक दामोदर सावरकर ने “जोसफ मैजिनी – जीवन कथा व राजनीती” नामक पुस्तक लिखी। उन्होंने 1857 की क्रान्ति पर “द इंडियन वॉर ऑफ़ इंडिपेंडेंस” नामक पुस्तक का प्रकाशन किया था। इसके अलावा उन्होंने रत्नागिरी में कैद के दौरान “हिंदुत्व – हु इस हिन्दू” नामक पुस्तक भी लिखी।
  • हालांकि वे हिन्दू महासभा के संस्थापक नही थे, परन्तु वे 1937 से 1943 के बीच हिन्दू महासभा के अध्यक्ष रहे।
  • वीर सावरकर ने भारत को “हिन्दू राष्ट्र” के रूप में एक निर्मित किये जाने का समर्थन किया, उन्होंने राष्ट्रवादी राजनीतिक विचारधारा “हिंदुत्व” के विकास किया।
  • उनके सम्मान में अंडमान व निकोबार के पोर्ट ब्लेयर के हवाईअड्डे का नाम वीर सावरकर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा रखा गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement