प्रौद्योगिकी

अटल टिंकरिंग लैब्स: नीति आयोग ने 3,000 और स्कूलों का चयन किया

नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन (AIM) ने अटल टिंकरिंग लैब्स (ATL) की स्थापना के लिए 3,000 अतिरिक्त स्कूलों का चयन किया है. अब अटल टिंकरिंग लैब्स की संख्या में किए गए परिवर्धन के बाद कुल एटीएल स्‍कूलों की संख्‍या बढ़कर 5,441 हो जाएगी. इस परिवर्धन से वर्ष 2020 तक 10 लाख से भी ज्‍यादा आधुनिक बाल नवप्रवर्तनकों के निर्माण का मार्ग प्रशस्‍त हो जाएगा.

मुख्य तथ्य

ये 3000 अतिरिक्त स्कूल एटीएल कार्यक्रम की पहुंच का विस्तार करेंगे और टिंकरिंग और नवाचार के संपर्क में आने वाले बच्चों की संख्या में वृद्धि भी करेंगे. चयनित स्कूलों को पूरे देश में माध्यमिक विद्यालय के बच्चों के बीच नवाचार और उद्यमशीलता की भावना को पोषित करने के उदेश्य से प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए अगले 5 सालों में अनुदान के रूप में 20 लाख रुपये मिलेंगे. ये केंद्र छात्रों को उन्न्त प्रौद्योगिकियों जैसे 3 डी प्रिंटिंग, रोबोटिक्स, इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) और माइक्रोप्रोसेसरों तक पहुंच प्रदान करेंगे.

अटल इनोवेशन मिशन (AIM)

अटल इनोवेशन मिशन (AIM) देश में नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए नीति आयोग की एक प्रमुख पहल है. मिशन का उदेश्य देश के नवाचार परितंत्र की निगरानी रखना और नवाचार परितंत्र प्रणाली में क्रांतिकारी बदलाव लाने के लिए एक बृहद संरचना का सृजन करना है, जिससे विभिन्‍न कार्यक्रमों के माध्यम से पूरे नवाचार चक्र पर विशिष्‍ट छवि बनाई जा सके.

इस मिशन के उदेश्य

  • अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए नए कार्यक्रमों और नीतियों का विकास करना.
  • विभिन्न हितधारकों के लिए मंच, सहयोग अवसर और जागरूकता प्रदान करना.
  • देश के नवाचार परितंत्र की निगरानी के लिए एक बृहद संरचना का सृजन करना.

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories: /

Month:

Tags: , , , , ,

सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ बिंदेश्वर पाठक को निक्की एशिया सम्मान-2018 से सम्मानित किया गया

सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ बिंदेश्वर पाठक को एशिया के विकास में उनके योगदान के लिए जापान में निक्की एशिया सम्मान-2018 (Nikkei Asia Prize-2018) से सम्मानित किया गया। डॉ पाठक को उनके देश की दो सबसे बड़ी चुनौतियों – खराब स्वच्छता सुविधा तथा भेदभाव से निपटने के लिए भारतीय सामाजिक सुधारक के तहत सम्मानित किया गया । वह तीन नॉमिनी में से एक थे जिन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।

निक्की एशिया सम्मान

निक्की इंक जापान में सबसे बड़े मीडिया निगमों में से एक है। यह 1996 से एशिया के लोगों का सम्मान करने हेतु निक्की एशिया सम्मान प्रदान कर रहा है उन व्यक्तियों को सम्मान प्रदान कर रहा है जिन्होंने तीन क्षेत्रों में से एक में महत्वपूर्ण योगदान दिया है: जिनमे आर्थिक तथा व्यापार नवाचार, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और पर्यावरण . संस्कृति तथा समुदाय शामिल हैं ।

डॉ बिंदेश्वर पाठक

उन्होंने 1970 में सुलभ इंटरनेशनल की स्थापना की थी। यह एक गैर सरकारी संगठन है जो मानव अधिकारों, अन्य सामाजिक सेवाओं के बीच पर्यावरणीय स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए काम करता है। इन्होने पूरे भारत में सुलभ फ्लश कंपोस्टिंग शौचालयों का निर्माण कराया है,तथा बेहतर स्वच्छता, ग्रामीण महिलाओं के लिए सुरक्षा और मानव अपशिष्ट को हटाने के मैनुअल श्रम से मुक्ति दिलाने में अपना योगदान दिया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement