बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग

प्रवीण राव को 2020-21 के लिए NASSCOM चेयरमैन नियुक्त किया गया

आईटी उद्योग निकाय NASSCOM ने 6 अप्रैल, 2020 को इन्फोसिस के मुख्य परिचालन अधिकारी यू.बी. प्रवीण राव को 2020-21 के लिए अपना अध्यक्ष नियुक्त किया है। इसके साथ ही  भारत में एक्सेंचर की अध्यक्ष और वरिष्ठ प्रबंध निदेशक रेखा एम मेनन को 2020-21 के लिए उपाध्यक्ष के रूप में नामित किया गया है।

NASSCOM: National Association of Software & Services Companies

NASSCOM भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी (IT) और बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) उद्योग का वैश्विक गैर-लाभकारी व्यापार संगठन है। यह सॉफ्टवेयर और सेवाओं में व्यापार की सुविधा प्रदान करता है और सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी में शौध प्रगतियों को प्रोत्साहित करता है। यह इंडियन सोसाइटीज एक्ट, 1860 के तहत पंजीकृत है और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता, मुंबई, पुणे और तिरुवनंतपुरम में इसके क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं। विश्व स्तरीय आईटी व्यापार निकाय में 200 से अधिक सदस्य देश शामिल हैं, जिनमें से 250 से अधिक चीन, यूरोपीय संघ, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन की कंपनियां हैं। NASSCOM की सदस्य कंपनियां सॉफ्टवेयर विकास, सॉफ्टवेयर सेवाओं, सॉफ्टवेयर उत्पादों, आईटी-सक्षम / बीपीओ सेवाओं और ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कार्यरत्त हैं।

 

 

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month: /

Tags: , , , , , ,

नैसकॉम ने हरियाणा में शुरू किया IoT के लिए सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस

भारतीय आईटी उद्योग की सर्वोच्च संस्था नैसकॉम (राष्ट्रीय सॉफ्टवेर तथा सेवा कंपनियों का संघ) ने हरियाणा के गुरुग्राम में इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स (IoT) के लिए सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस लांच किया। इस केंद्र को हरियाणा सरकार के सहयोग से लांच किया गया है, यह केन्द्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की राष्ट्रव्यापी सहयोग  पहल का हिस्सा है।

IoT के लिए सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस

यह आधुनिकतम तकनीकों तथा नवोन्मेष पर सहयोग के लिए एक उपयुक्त प्लेटफार्म होगा। यह उभरती हुई नवीन टेक्नोलॉजी के द्वारा इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स से सम्बंधित नवोन्मेष को बढ़ावा देने का कार्य करेगा। यह उद्योग, शिक्षाविद, स्टार्टअप्स तथा सरकार के लिए सहयोग करने तथा भारत के आर्थिक विकास के लिए नवीन समाधान ढूँढने के लिए उपयुक्त प्लेटफार्म होगा। IoT क्षमता विकसित करने के लिए यह इंटेलिजेंस शेयरिंग तथा टेक्नोलॉजी सहयोग के लिए भी अच्छा प्लेटफार्म होगा।

इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स (IoT) : कनेक्टेड डिवाइसेस जैसे स्मार्टफ़ोन, वेअरेबल डिवाइसेस, घरेलु उपकरण, वाहन, जो इन्टरनेट से आपस में जुड़े होते हैं तथा आपस डाटा साझा करते हैं, इस नेटवर्क को IoT कहा जाता है। इसके लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है , यह काफी सुरक्षित तकनीक है, इससे डाटा में छेड़छाड़ नहीं की जा सकती।

NASSCOM: National Association of Software & Services Companies

NASSCOM भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी (IT) और बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) उद्योग का वैश्विक गैर-लाभकारी व्यापार संगठन है। यह सॉफ्टवेयर और सेवाओं में व्यापार की सुविधा प्रदान करता है और सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी में शौध प्रगतियों को प्रोत्साहित करता है। यह भारतीय सोसाइटीज अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत है और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता, मुंबई, पुणे और तिरुवनंतपुरम में इसके क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं। इस विश्व स्तरीय आईटी व्यापार निकाय में 2000 से अधिक सदस्य शामिल हैं,  इनमे 250 से अधिक कंपनियां चीन, यूरोपीय संघ, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन की हैं। NASSCOM की सदस्य कंपनियां सॉफ्टवेयर विकास, सॉफ्टवेयर सेवाओं, सॉफ्टवेयर उत्पादों, आईटी-क्षमता / बीपीओ सेवाओं और ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कार्यरत्त हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement