बी.एस. धनोआ

वायुसेना में शामिल किये जायेंगे 8 अपाचे हेलिकॉप्टर

भारतीय वायुसेना में अमेरिकी एयरोस्पेस कंपनी बोइंग द्वारा निर्मित आठ अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल किये जायेंगे। इसके लिए पठानकोट एयरबेस में एक समारोह का आयोजन किया जायेगा, इस समारोह में एयर चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ मुख्य अतिथि होंगे।

यह हेलिकॉप्टर विश्व का सबसे घातक अटैक हेलिकॉप्टर माना जाता है। इस हेलिकॉप्टर का पहला बैच 27 जुलाई को गाज़ियाबाद के हिंडन एयरबेस पर पहुंचा। इस पहले बैच में चार AH-64E अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर शामिल थे।

मुख्य बिंदु

मार्च, 2020 तक भारतीय वायुसेना में 22 अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल हो जायेंगे, इसके लिए भारत ने सितम्बर, 2015 में अमेरिका के साथ 13,952 करोड़ रुपये के सौदे पर हस्ताक्षर किये थे।

गौरतलब है कि इन हेलिकॉप्टर को ऑपरेट करने के लिए भारतीय वायुसेना के चयनित रेव ने अमेरिका के अलबामा में अमेरिकी सेना के बेस में प्रशिक्षण प्राप्त किया है। भारतीय वायुसेना में अपाचे हेलिकॉप्टर को शामिल करना इसके हेलिकॉप्टर के आधुनिकीकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

AH-64E अपाचे हेलिकॉप्टर एक मल्टी-रोल अटैक हेलिकॉप्टर है, इसका उपयोग अमेरिकी सेना द्वारा किया जाता है। इस हेलीकाप्टर में हवा से हवा में मार कर सकने वाली स्टिंगर मिसाइल, हेलफायर लॉन्गबो एयर-टू-ग्राउंड मिशन, गन तथा राकेट उपयोग किये जा सकते हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

थाईलैंड में किया जायेगा 2019 इंडो-पैसिफिक चीफ्स ऑफ़ डिफेन्स कांफ्रेंस का आयोजन

2019 इंडो-पैसिफिक चीफ्स ऑफ़ डिफेन्स कांफ्रेंस का आयोजन थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में किया जायेगा। इस सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व चेयरमैन चीफ्स ऑफ़ स्टाफ कमिटी (COSC) तथा वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ द्वारा किया जायेगा।

2019 इंडो-पैसिफिक चीफ्स ऑफ़ डिफेन्स कांफ्रेंस

2019 इंडो-पैसिफिक चीफ्स ऑफ़ डिफेन्स कांफ्रेंस की थीम “स्वतंत्र व मुक्त हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग” है। इस सम्मेलन में 33 से अधिक देशों के रक्षा प्रमुख हिस्सा लेंगे। इस सम्मेलन में क्षेत्र के समक्ष मौजूद चुनौतियों पर चर्चा की जायेगी।

भारत-थाईलैंड रक्षा सम्बन्ध

भारत की “लुक ईस्ट पालिसी” के बाद भारत-थाईलैंड रक्षा संबंधों में प्रगाढ़ता आई है, इसके अलावा राजनैतिक, आर्थिक तथा सांस्कृतिक सम्बन्ध भी मज़बूत हुए हैं। 2017 में दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगाँठ मनाई गयी थी। सुरक्षा पहलों  में क्षेत्रीय सहयोग के लिए भारत, थाईलैंड का प्राकृतिक साझेदार है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement