भारत की आर्थिक विकास दर

संयुक्त राष्ट्र ने विश्व आर्थिक स्थिति और संभावना रिपोर्ट 2020 जारी की

संयुक्त राष्ट्र ने हाल ही में वर्ल्ड इकोनॉमिक सिचुएशन एंड प्रॉस्पेक्ट्स रिपोर्ट, 2020 जारी की है। इस रिपोर्ट के अनुसार वैश्विक अर्थव्यवस्था 2020 में 3.2% तक सिकुड़ जाएगी। विकसित देशों में जीडीपी की वृद्धि 2020 में घटकर -0.5% रह जाएगी।

मुख्य विशेषताएं: भारत

इस रिपोर्ट के अनुसार 2018 में भारत की विकास दर 6.8% थी और 2019 में यह 4.1% थी। यह 2020 में घटकर 1.2% हो जाएगी। इस रिपोर्ट में पूर्वानुमान लगाया गया है कि भारत की वृद्धि 2021 में 5.5% तक बढ़ जाएगी।

मुख्य विशेषताएं: विश्व

वैश्विक अर्थव्यवस्था धीरे-धीरे 2021 तक रिकवर हो जायेगी। COVID-19 के कारण विश्व अर्थव्यवस्था में लगभग 8.5 ट्रिलियन अमरीकी डालर का नुकसान होगा। इसके अलावा, वैश्विक अर्थव्यवस्था में 2020 में 4.9% का संकुचन होगा। 2020 तक लगभग 34.3 मिलियन लोग गरीबी रेखा से नीचे सकते हैं।  साथ ही, रिपोर्ट में कहा गया है कि कई सरकारें असमान वित्तीय प्रोत्साहन उपायों को लागू कर रही हैं जो COVID-19 के प्रकोप से पैदा हुए संकट को कम करने के लिए उनके सकल घरेलू उत्पाद के लगभग 10% के बराबर हैं।

समाधान

इस रिपोर्ट में COVID-19 से निपटने के लिए निम्नलिखित उपाय सुझाए गए हैं :

  • COVID-19 वैश्वीकरण के मूल आधार को प्रभवित कर रहा है। इसलिए, वायरस को नियंत्रित करने के लिए मजबूत अंतरराष्ट्रीय सहयोग की आवश्यकता है
  • अर्थव्यवस्था में अधिक तरलता की आवश्यकता है
  • अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन पर  फोकस जाना चाहिए। लगभग 80% पर्यटन बंद हो जाने कारण लाखों लोग बेरोजगारों बेरोजगार हो गये हैं

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

मूडीज़ ने भारत की आर्थिक विकास दर के अनुमान को कम किया

न्यूयॉर्क स्थित ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस, जिसे मूडीज भी कहा जाता है, ने हाल ही में 2020-21 में भारत की जीडीपी विकास दर को 0.2 प्रतिशत तक घटा दिया है। सरकार द्वारा राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन घोषित किये जाने के बाद मूड़ीज़ ने विकास दर के अनुमान को 5.2% से घटाकर 2.5% कर दिया था। हालाँकि, मूड़ीज़ ने यह पूर्वानुमान भी लगाया है कि 2021-22 में भारत की वृद्धि दर 6.2% रहेगी।

मूडीज़

मूडीज़ इन्वेस्टर्स सर्विस मूडीज़ कारपोरेशन के अधीन एक अमेरिकी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी है। यह एजेंसी सरकारी तथा वाणिज्यिक इकाइयों द्वारा जारी बांड्स पर वित्तीय अनुसन्धान का कार्य करते हैं। स्टैण्डर्ड एंड पूअर्स तथा फिच ग्रुप के साथ मूडीज़ को विश्व की तीन सबसे बड़ी क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों में से एक माना जाता है। इसकी स्थापना 1909 में की गयी थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement