भारत के अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध

प्रधानमंत्री मोदी ने यूगांडा की संसद को किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूगांडा दौरे के दौरान यूगांडा की संसद को संबोधित किया, यह ऐसा पहला मौका था जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने यूगांडा की संबोधित किया। अपना यूगांडा दौरे के दूसरे दिन उन्होंने यूगांडा की राजधानी कम्पाला में संसद को संबोधित किया।

मुख्य बिंदु

इस संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने महात्मा गाँधी के दक्षिण अफ्रीका में 21 वर्ष के प्रवास पर प्रकाश डाला। संसद में संबोधन के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भारत यूगांडा बिज़नेस फोरम में भाग लिया। इसमें भारत की ओर से भारतीय उद्योग संघ (CII) और यूगांडा की ओर से प्राइवेट सेक्टर फाउंडेशन ने हिस्सा लिया। हालांकि भारत-यूगांडा व्यापार अधिकतर भारत के पक्ष में है, परन्तु भारत ने यूगांडा से निर्यात को प्रोत्साहन दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस सन्दर्भ में आश्वासन दिया।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने यूगांडा को औद्योगिक उत्पादन के लिए जीरो डिफेक्ट मशीनरी देने की पेशकश की। प्रधानमंत्री मोदी के साथ यूगांडा के राष्ट्रपति मुसेवेनी ने भी भारत-यूगांडा बिज़नेस फोरम को संबोधित किया। उन्होंने दोनों देशों में व्यापार और निवेश बढाने पर बल दिया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Month:

Tags: , , , ,

भारत और रवांडा के बीच 8 समझौतों पर किये गए हस्ताक्षर

भारत और रवांडा के बीच विभिन्न क्षेत्रों में 8 समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये, यह समझौते रक्षा, व्यापार, कृषि, चमड़ा उद्योग व दुग्ध उद्योग इत्यादि क्षेत्रों में किये गये। इन समझौतों पर प्रधान नरेंद्र मोदी और रावंदा के राष्ट्रपति पॉल कागामे के बीच वार्ता के बाद हस्ताक्षर किये गये। प्रधानमंत्री मोदी रवांडा की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं।

मुख्य बिंदु

प्रधानमंत्री मोदी और रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कागामे के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई, इस दौरान उन्होंने द्विपक्षीय संबंधों को मज़बूत करने पर भी चर्चा की। भारत ने रवांडा के विकास में योगदान देने की प्रतिबद्धता को दोहराया। भारत ने रवांडा को 200 मिलियन डॉलर की क्रेडिट लाइन भी जारी की, इसका उपयोग किगाली विशेष आर्थिक क्षेत्र (SEZ) तथा रवांडा में तीन कृषि परियोजनाओं के लिए किया जायेगा। इस प्रधानमंत्री मोदी में रवांडा में पहले भारतीय राजनयिक मिशन शुरू करने की घोषणा भी की। दोनों देशों ने बच्चों के लिए डिजिटल तरीके से सीखने के माध्यम शुरू करने के लिए टास्क फ़ोर्स स्थापित करने के निर्णय भी लिया।

मुख्य समझौते

पशु व कृषि क्षेत्र में सहयोग के लिए MoU में संशोधन : इस MoU में अनुसन्धान, तकनीकी विकास, मानव संसाधन विकास इत्यादि सहयोग के प्रमुख क्षेत्र हैं।

रक्षा, उद्योग, विज्ञान व तकनीक के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता

वर्ष 2018-22 के लिए सांस्कृतिक आदान प्रदान के लिय MoU :  इसमें संगीत, नृत्य, थिएटर, प्रदर्शनी, सेमिनार, सम्मेलन, पुरातत्व, अभिलेखागार, पुस्तकालय, संग्रहालय, साहित्य, अनुसन्धान व डॉक्यूमेंटेशन इत्यादि सहयोग के प्रमुख क्षेत्र हैं।

कृषि अनुसन्धान पर शिक्षा पर MoU : RAB और ICAR के बीच दुग्ध क्षेत्र में प्रशिक्षण व अनुसन्धान, डेरी उत्पादों का प्रसंस्करण, मिल सुरक्षा इत्यादि सहयोग के लेकर MoU पर हस्ताक्षर किये गए।

व्यापार सहयोग फ्रेमवर्क : इसमें दोनों देशों के बीच व्यापारिक व आर्थिक सहयोग को बढ़ावा देने और व्यापार के विविधिकरण के लिए MoU पर हस्ताक्षर किये गये।

NIRDA और CSIR-CLRI के बीच चमड़ा व सहयोगी सेक्टर के लिए MoU

किगाली विशेष आर्थिक क्षेत्र (SEZ) के लिए 100 मिलियन डॉलर की क्रेडिट लाइन के लिए समझौता

रवांडा में कृषि सिंचाई योजना के लिए 100 मिलियन डॉलर की क्रेडिट लाइन के लिए समझौता

गिरिन्का प्रोग्राम

रवांडा सरकार की गिरिन्का प्रोग्राम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रवेरू गाँव के निवासियों को 200 गायें उपहार स्वरुप दी। इस प्रोग्राम की शुरूआत पॉल कागामे ने बच्चों में अत्यधिक कुपोषण व गरीबी को कम करने के लिए  की थी। इस योजना के तहत गरीब लोगों को रवांडा सरकार द्वारा गायें उपहार स्वरुप दी जाती हैं। इसका उद्देश्य निर्धन वर्ग के लोगों को दुधारू पशु देकर उनके आर्थिक स्तर पर वृद्धि करना तथा कुपोषण को समाप्त करना है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement