भारत के अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध

भारत अमेरिका के साथ करेगा 2+2 वार्ता का आयोजन

भारत अमेरिका के साथ पहली 2+2 वार्ता का आयोजन सितम्बर 2018 में नई दिल्ली में करेगा। पहली बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अमेरिकी राज्य सचिव माइकल पोम्पेओ और अमेरिका के रक्षा सचिव जेम्स मेटिस की मेजबानी करेंगी।

मुख्य बिंदु

इस बैठक में विभिन्न दिपक्षीय मुद्दों, क्षेत्रीय तथा वैश्विक मुद्दों, तथा आपसी सामरिक तथा सुरक्षा संबंधों को मज़बूत करने पर चर्चा की जाएगी। इस डायलॉग में दोनों देश सामरिक और सुरक्षा सम्बन्धी संवेदनशीन मुद्दों पर चर्चा करेंगे। इस डायलॉग से दोनों देश के बीच सामरिक संबंधों को बढ़ावा मिलेगा।

2+2 संवाद (2+2 डायलॉग)

जून 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान दोनों देशों ने 2+2 संवाद पर सहमती प्रकट की थी। यह भारत-जापान के 2+2 संवाद पर आधारित है जिसमे दोनों देशों के विदेश मंत्री व सचिव तथा रक्षा मंत्री व सचिव हिस्सा लेते हैं। यह संवाद भारत-अमेरिका सामरिक और व्यापारिक संवाद का स्थान लेगा।

इस संवाद का उद्देश्य दोनों देशों के बीच सामरिक सहयोग को बढ़ावा देना है और हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा और शांति को बनाये रखना है। इस संवाद में सामरिक, रक्षा तथा रक्षा सम्बन्ध चर्चा के केंद्र बिंदु होंगे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

होमलैंड सिक्योरिटी डायलॉग : भारत, अमेरिका नागरिक विमानन और आतंकवाद विरोधी अभियानों में करेंगे सहयोग

होमलैंड सिक्योरिटी डायलॉग ने भारत और अमेरिका ने कई क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देना का निर्णय लिया, यह सहयोग प्रवास, नागरिक विमानन, सुरक्षा और आतंकवाद विरोधी अभियान जैसे क्षेत्रों में किया जायेगा। होमलैंड सिक्योरिटी डायलॉग के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व गृह मंत्रालय की अतिरिक्त सचिव रजनी सेखरी सिबल ने किया। जबकि अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व होमलैंड सिक्योरिटी विभाग के डिप्टी अंडर सेक्रेटरी जेम्स मैकेमेंट ने किया।

मुख्य बिंदु

इस वार्ता में दोनों देशों ने सुरक्षा सहयोग, सीमा शुल्क, प्रवास, विमानन सुरक्षा इत्यादि जैसे मुद्दों पर चर्चा की। दोनों देश आतंकवादी गतिविधियों में शामिल भगौड़ों की सूची तैयार कर रहे हैं। HSPD-6 समझौते के अंतर्गत आंतकवादी सम्बन्धी जानकारी एक दूसरे से साझा की जाएगी। इसके अलावा दोनों देशों ने कई व्यक्तियों के नाम ग्लोबल एंट्री प्रोग्राम (GEP) में शामिल करने पर सहमती प्रकट की है। ग्लोबल एंट्री प्रोग्राम के अंतर्गत विशिष्ट व्यक्तियों को अमेरिका में शीघ्र ही प्रवेश मिल जाता है। अमेरिका ने 30 देशों के साथ GEP समझौता किया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement