मत्स्यपालन पशुपालन तथा डेयरी मंत्रालय

20वीं पशुधन जनगणना : महत्वपूर्ण तथ्य

मत्स्यपालन, पशुपालन तथा डेयरी मंत्रालय के अधीन पशुपालन व डेयरी विभाग ने हाल ही में 20वीं पशुधन जनगणना जारी की। इस जनगणना के अनुसार देश में पशुधन की कुल संख्या 535.78 मिलियन है, इसमें पिछली जनगणना के मुकाबले 4.6% की वृद्धि हुई है। पिछली पशुधन जनगणना का आयोजन 2014 में किया गया था।

जनगणना के महत्वपूर्ण तथ्य

  • गोजातीय पशुओं (भैंस, मवेशी, मिथुन तथा याक इत्यादि) की संख्य 302.79 मिलियन है, 2019 में इसमें 1% की वृद्धि हुई है।
  • देश में मवेशियों की कुल संख्या 192.49 मिलियन है, इसमें 0.8% की वृद्धि हुई है। इसमें मादा मवेशियों की संख्या 145.12 मिलियन है, इसमें पिछली पशुधन जनगणना के मुकाबले 18% की वृद्धि हुई है।
  • स्वदेशी मादा मवेशियों की संख्या में 2019 में 10% की वृद्धि हुई है।
  • संकर मवेशियों की संख्या में 26.9% की वृद्धि हुई है।
  • भैंसों की कुल संख्या 109.85 मिलियन है, इसमें 1% की वृद्धि हुई है।
  • बकरियों की संख्या 148.8 मिलियन है, इसमें 10.1% की वृद्धि हुई है।
  • सुअरों की संख्या 9.06 मिलियन है, इसमें 12.03% की कमी आई है।
  • वाणिज्यिक पोल्ट्री की संख्या 534.74 मिलियन है, इसमें 4.5% की वृद्धि हुई है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement