माउंट किलिमंजारो

9 वर्षीय अद्वैत भारतीय ने अफ्रीका के सबसे ऊँचे पर्वत माउंट किलिमंजारो पर सफलतापूर्वक चढ़ाई की

पुणे के 9 वर्षीय अद्वैत भारतीय ने अफ्रीका के सबसे ऊँचे पर्वत माउंट किलिमंजारो पर सफलतापूर्वक चढ़ाई की, गौरतलब है कि माउंट किलिमंजारो की ऊंचाई 19,341 फीट है। इससे अद्वैत मात्र 6 वर्ष की आयु में माउंट एवेरेस्ट के बेस कैंप तक गये थे। इसके बाद अद्वैत ने यूरोप के माउंट एलब्रुस पर चढ़ाई करने की योजना बनायी है।

माउंट किलिमंजारो

माउंट किलिमंजारो अफ्रीका का सबसे ऊँचा पर्वत है, इसकी उंचाई 19,341 फीट (5,895 मीटर) है। यह पर्वत तंज़ानिया में स्थित है। सर्वप्रथम 1889 में हंस मेयेर और लुडविग पुर्तशेलर इस पर्वत के शिखर पर पहुंचे थे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

अरुणिमा सिन्हा अंटार्टिका के सबसे ऊँचे पर्वत पर चढ़ाई करने वाली पहली महिला ऐम्प्युटी (दिव्यांग) पर्वतारोही बनीं

हाल ही में भारतीय पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा अंटार्टिका के सबसे ऊँचे पर्वत “माउंट विंसन” पर चढ़ाई करने वाली विश्व की पहली महिला ऐम्प्युटी पर्वतारोही बनी। उन्होंने 4 जनवरी, 2019 को यह कारनामा किया। इससे पहले 2013 में अरुणिमा माउंट एवेरेस्ट पर चढ़ाई करने वाली पहली महिला ऐम्प्युटी पर्वतारोही बनीं थीं।

अरुणिमा सिन्हा

अरुणिमा सिन्हा का जन्म 20 जुलाई, 1988 को उत्तर प्रदेश के अम्बेदकर नगर में हुआ था। शुरू में अरुणिमा एक राष्ट्रीय स्तर की वॉलीबॉल खिलाड़ी थीं, 2011 में एक दुर्घटना के कारण उनकी एक टांग बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गयी थी। अब अरुणिमा सिन्हा का लक्ष्य सभी महाद्वीपों के सबसे ऊँचे पर्वतों की चढाई करना है। अब तक वे माउंट एवेरेस्ट, माउंट किलिमंजारो, माउंट एब्रुस, माउंट कोसीउजको तथा माउंट अकोंकागुआ पर विजय प्राप्त कर चुकी हैं।

अरुणिमा सिन्हा को 2015 में पद्म श्री तथा तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड प्रदान किया गया था, 2016 में उन्हें फर्स्ट लेडी अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement