मितियाला अभ्यारण्य

मई, 2020 में की जायेगी एशियाई शेरों की जनगणना

भारतीय वन्यजीव संस्थान द्वारा मई, 2020 में एशियाई शेरों की जनगणना की जायेगी। इस जनगणना के लिए भारतीय वन्यजीव संस्थान द्वारा लगभग 10,000 कैमरों का उपयोग किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

2015 की जनगणना में गुजरात में 523 एशियाई शेर पाए गये थे, उम्मीद जताई जा रही है कि अब इन एशियाई शेरों की जनसँख्या 1000 से भी ज्यादा हो गयी है। इस जनगणना के लिए राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण की तकनीक का उपयोग किया जायेगा। इसके लिए जनगणना क्षेत्र को 3 किलोमीटर ग्रिड में बांटा जाएगा। जनगणना अधिकार शेरोन के बाल, नाखून दांत इत्यादि के साक्ष्य एकत्रित करेंगे। इस कार्य में 1000 से 2000 अफसर कार्य करेंगे।

एशियाई शेर (Asiatic Lion)

  • IUCN की रेड लिस्ट में एशियाई शेर को “संकटग्रस्त” जीवों की सूची में रखा गया है।
  • भारत में एशियाई शेर मुख्य रूप से गुजरात में ही पाए जाते हैं।
  • केन्द्र व राज्य सरकारों के प्रयासों से एशियाई शेरों की जनसँख्या को 50 से 500 तक पहुँचाया गया है।
  • 2015 की गणना के अनुसार गिर सुरक्षित क्षेत्र नेटवर्क में 523 एशियाई शेर हैं।
  • गिर सुरक्षित क्षेत्र नेटवर्क में गिर राष्ट्रीय उद्यान, गिर वन्यजीव अभ्यारण्य, पनिया अभिरान्य, मितियाला अभ्यारण्य तथा निकटवर्ती क्षेत्र हैं, इसक कुल क्षेत्रफल 1,648.79 वर्ग किलोमीटर है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement