मुख्य आर्थिक सलाहकार

मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन को 15वें वित्त आयोग की सलाहकार परिषद् का सदस्य नियुक्त किया गया

मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन को 15वें वित्त आयोग की सलाहकार परिषद् का सदस्य नियुक्त किया गया। वे 15वें वित्त आयोग की सलाहकार परिषद् के 12वें सदस्य हैं।

सलाहकार परिषद्

  • सलाहकार परिषद् में अब 12 सदस्य हैं, इसमें सुरजीत भल्ला, अरविन्द विरमानी, इंदिरा राजरमण तथा एम. गोविंदा राव इत्यादि शामिल हैं।
  • इस परिषद् का उद्देश्य वित्त आयोग को विभिन्न मुद्दों पर परामर्श प्रदान करना है।
  • यह परिषद् अनुसन्धान कार्य में आयोग की सहायता करती है।
  • यह परिषद् वित्त आयोग की अनुशंसा की गुणवत्ता तथा पहुँच को बेहतर करने के लिए कार्य करती है।

वित्त आयोग

‘वित्त आयोग’ एक संवैधानिक संस्था है, इसका गठन संविधान के अनुच्छेद 280 के तहत किया गया था। वित्त आयोग केंद्र से राज्यों को मिलने वाले अनुदान के नियम भी तय करता है। यह राज्यों तथा केंद्र के बीच कर राजस्व वितरण की अनुशंसा भी करता है। वित्त आयोग का गठन पांच वर्ष के लिए किया जाता है, इसमें पांच सदस्य शामिल होते हैं। इनमे एक अध्यक्ष तथा चार सदस्य शामिल होते हैं। पहले वित्त आयोग का गठन 6 अप्रैल, 1952 को श्री के.सी. नेगी की अध्यक्षता में किया गया था।

15वां वित्त आयोग

15वें वित्त आयोग का गठन नवम्बर, 2017 में किया गया था। इसका गठन अगले पांच वर्षों (1 अप्रैल, 2020 से 31 मार्च, 2025) के लिए वित्तीय मामलों तथा कर निर्धारण के लिए किया गया था।

इसके अध्यक्ष एन.के. सिंह हैं। 15वें वित्त आयोग के सदस्य अजय नारायण झा, अशोक लाहिरी तथा अनूप सिंह हैं। रमेश चंद 15वें वित्त आयोग के पार्ट-टाइम सदस्य हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम बने देश के नए मुख्य आर्थिक सलाहकार

केंद्र सरकार ने 7 दिसम्बर, 2018 को कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम को नया मुख्य आर्थिक सलाहकार नियुक्त करने का निर्णय लिया, उनका कार्यकाल तीन वर्ष का होगा। वे अरविन्द सुब्रमनियन की जगह लेंगे, अरविन्द सुब्रमनियन ने 20 जून, 2018 को मुख्य आर्थिक सलाहकार के पद से इस्तीफ़ा दिया था। कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम भारत के 17वें मुख्य आर्थिक सलाहकार हैं।

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम बैंकिंग, कॉर्पोरेट गवर्नेंस तथा आर्थिक नीति में विश्व के अग्रणी विशेषज्ञों में से एक हैं। उन्होंने IIT और आईआईएम से अपनी पढाई की है। इसके पश्चात उन्होंने शिकागो से पीएचडी की है। वर्तमान में वे इंडियन स्कूल ऑफ़ बिज़नस में अध्यापन का कार्य करते हैं। अध्यापन कार्य से पहले उन्होंने न्यूयॉर्क में जे.पी. मॉर्गन और आईसीआईसीआई बैंक में कार्य किया है।

मुख्य आर्थिक सलाहकार

मुख्य आर्थिक सलाहकार केंद्र सरकार को विभिन्न आर्थिक मुद्दों पर परामर्श प्रदान करता है, वह वित्त मंत्रालय के अधीन कार्य करता है। जे.जे. अंजरिया देश के पहले मुख्य आर्थिक सलाहकार थे, वे 1956 से 1961 के बीच देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार रहे।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement