यूरोपीय संघ

यूरोपीय संघ ने COVID-19 रिकवरी फंड के लिए 750 बिलियन यूरो की घोषणा की

27 मई, 2020 को यूरोपीय संघ ने 750 बिलियन यूरो को COVID-19 रिकवरी फंड के रूप में प्रस्तावित किया। इस कोष का उपयोग देशों द्वारा COVID-19 के कारण होने वाली गहरी मंदी से उबरने के लिए किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

यूरोपीय संघ ने अपने सदस्य देशों में नौकरियों, स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों और व्यवसायों को जीवित रखने के लिए घाटे की सीमा को तोड़ दिया है। फ्रांस और जर्मनी ने पहले ब्लाक के वित्तीय उपायों के लिए नकदी जोड़ने के लिए 543 बिलियन अमरीकी डालर का फंड देने पर सहमति व्यक्त की थी।

यूरोपीय संघ फ्रेंको-जर्मन मॉडल के समान कई प्रकार के ब्लूप्रिंट को लागू करेगा।

भारत का रुख

भारत फ्रेंको-जर्मन मॉडल का समर्थन करता है। भारत सहित लगभग 25 देशों ने प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ वायरस को रोकने के तरीकों पर चर्चा की। इस गठबंधन का नेतृत्व फ्रांस और जर्मनी द्वारा किया गया था और यह मॉडल 25 देशों की बैठक का एक परिणाम है जो अप्रैल 2020 में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गयी थी।  इसमें भारत का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने किया था।

फ्रेंको-जर्मन मॉडल

इस मॉडल का उद्देश्य COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में विश्व संगठनों में शामिल करना है। इस मॉडल का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को परीक्षणों और टीकों को विकसित और वितरित करने के लिए मजबूत करना है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

कोरोना वायरस : भारत ने यूनाइटेड किंगडम और यूरोपीय संघ के लोगों के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगाया

16 मार्च 2020 को भारत ने घोषणा की है कि मार्च 2020 के अंत तक देश में यूरोपीय संघ और यूनाइटेड किंगडम के लोगों के प्रवेश पर रोक लगायी गयी है। यह निर्णय कोरोना वायरस के बढ़ते खतरों के कारण लिया जा रहा है।

मुख्य बिंदु

यह प्रवेश प्रतिबंध में यूरोपीय संघ के सभी 27 सदस्य देशों तथायूरोपीय मुक्त व्यापार संघ के सदस्य देशों पर लगाया गया है। भारत ओमान, यूएई, कतर और कुवैत के यात्रियों पर भी प्रतिबंध लगाएगा। यात्रा प्रतिबंध के कारण देश में पर्यटन उद्योग काफी  प्रभावित हुआ हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन  ने इस प्रतिबन्ध के लिए भारत की आलोचना की है।

पर्यटन

पिछले 2 हफ्तों में 2,00,000 से अधिक घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों ने ताजमहल की अपनी यात्रा रद्द कर दी। देश में छुट्टियों का मौसम अप्रैल से जुलाई के बीच होता है, इस दौरान भारतीय देश के अंदर और बाहर बहुत यात्रा करते हैं। भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के अनुसार छुट्टियों में मौसम में देश के पर्यटन उद्योग 80% से अधिक नुकसान हो सकता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Month:

Tags: , , ,

Advertisement