राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 8वीं सीओल रक्षा वार्ता 2019 को संबोधित किया

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हाल ही में दक्षिण कोरिया में ‘सीओल रक्षा वार्ता 2019’ को संबोधित किया। इस रक्षा वार्ता की थीम ‘एकजुट होकर शांति स्थापना : चुनौतियाँ तथा विज़न’ थी। रक्षामंत्री तीन दिवसीय दक्षिण कोरिया की यात्रा पर गये हैं।

अपने संबोधन के दौरान रक्षामंत्री ने विभिन्न सुरक्षा चुनौतियाँ पर प्रकाश डाला तथा आतंकवाद के खतरे से विश्व की परिचित करवाया। रक्षामंत्री ने आतंक का समर्थन करने वाले तथा वित्तपोषण करने वालों के विरुद्ध कड़ी करवाई करने की मांग की।

सीओल रक्षा वार्ता 2019

सीओल रक्षा वार्ता 2019 का आयोजन दक्षिण कोरिया की राजधानी सीओल में किया गया। इस वार्ता में 50 देशों तथा 5 अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के अधिकारियों तथा विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

सीओल रक्षा वार्ता को 2012 में लांच किया गया था। यह एक उप-मंत्री स्तरीय बहुपक्षीय सुरक्षा विचार-विमर्श वार्ता है। इस वार्ता में एशिया-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग तथा कोरियाई प्रायद्वीप में शान्ति पर चर्चा की जाती है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

सितम्बर में भारत को प्राप्त होगा पहला राफेल लड़ाकू विमान

भारत को फ्रांस से पहला राफेल लड़ाकू विमान सितम्बर में प्राप्त होगा। इसके लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तथा वायुसेना प्रमुख बी.एस. धनोआ फ्रांस जायेंगे।

मुख्य बिंदु

गौरतलब है कि छोटे-छोटे बैच में भारतीय पायलट्स को फ़्रांसिसी वायुसेना द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। मई, 2020 तक फ्रांस भारतीय वायुसेना के 24 पायलट्स को तीन बैच में प्रशिक्षण प्रदान करेगा। भारतीय वायुसेना राफेल के एक-एक स्क्वाड्रन को अम्बाला (हरियाणा) तथा हाशिमारा (पश्चिम बंगाल) के एयरबेस में तैनात करेगी। भारतीय वायुसेना ने इन दो एयरबेस में आवश्यक अधोसंरचना जैसे शेल्टर, हेंगर तथा मेंटेनेंस फैसिलिटी के लिए लगभग 400 करोड़ का व्यय किया है।

सितम्बर, 2016 में भारत ने फ़्रांसिसी सरकार तथा दसौल्ट एविएशन के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए 7.8 अरब यूरो के सौदे पर हस्ताक्षर किये थे। सौदे पर हस्ताक्षर किये जाने के 67 महीनों के भीतर भारत को सभी राफेल लड़ाकू विमानों की डिलीवरी कर दी जायेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

Advertisement