राजनाथ सिंह

यौन शोषण छानबीन ट्रैकिंग प्रणाली (ITSSO) तथा सुरक्षित नगर क्रियान्वयन मॉनिटरिंग पोर्टल को लांच किया गया

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने तथा महिला व बाल विकास मंत्री मेनका गाँधी ने यौन शोषण छानबीन ट्रैकिंग प्रणाली (ITSSO) तथा सुरक्षित नगर क्रियान्वयन मॉनिटरिंग पोर्टल को लांच किया। इन पोर्टल को महिला की सुरक्षा के लिए लांच किया गया है।

यौन शोषण छानबीन ट्रैकिंग प्रणाली (ITSSO)

यौन शोषण छानबीन ट्रैकिंग प्रणाली (ITSSO) एक ऑनलाइन मोड्यूल है, यह मोड्यूल सभी स्तरों पर कानूनी एजेंसियों के लिए उपलब्ध है। इसके द्वारा बलात्कार के मामलों की रियल-टाइम मॉनिटरिंग तथा प्रबंधन में राज्यों को सहायता मिलेगी। ITSSO से पहले से मौजूद अपराध व अपराध ट्रैकिंग नेटवर्क व सिस्टम के स्तर में वृद्धि होगी, यह एक राष्ट्रव्यापी नेटवर्क है, इसका उपयोग विभिन्न पुलिस स्टेशनों, राज्य के अफसरों तथा सुरक्षा एजेंसियों के बीच सूचना साझा करने के लिए किया जाता है। ITSSO के द्वारा अपराधिक कानून संशोधन अधिनियम, 2018 के प्रभावशाली क्रियान्वयन को बढ़ावा मिलेगा, इस अधिनियम के तहत दो माह के भीतर बलात्कार के मामले की जांच व ट्रायल पूरा हो जाना चाहिए।

सुरक्षित नगर क्रियान्वयन मॉनिटरिंग पोर्टल

सुरक्षित नगर क्रियान्वयन मॉनिटरिंग पोर्टल को आठ शहरों में “सेफ सिटी प्रोजेक्ट” को मॉनिटर करने के लिए लांच किया गया है। यह आठ शहर हैं : अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, कलकत्ता, लखनऊ तथा मुंबई। इस पोर्टल के द्वारा परिसंपत्तियों व अधोसंरचना के उपयोग को भी ट्रैक किया जा सकता है।

“सेफ सिटी प्रोजेक्ट” के लिए निर्भया फण्ड से धन उपलब्ध करवाया गया है। यह प्रोजेक्ट शहर की पुलिस तथा नगर निकाय का साझा प्रयास है। इस प्रोजेक्ट के तहत अपराध हॉटस्पॉट चिन्हित किये जाते हैं। तत्पश्चात उन स्थानों पर CCTV कैमरा, ड्रोन के द्वारा निगरानी तथा ऑटोमेटेड नंबर प्लेट रीडिंग उपकरण का उपयोग किया जाता है, इन्हें स्मार्ट कण्ट्रोल रूम द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला तथा CyPAD का उद्घाटन किया गया

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हाल ही में राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला तथा CyPAD (Cyber Prevention, Awareness & Detection Centre) का उद्घाटन किया। राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला भारतीय साइबर अपराध सहयोग केंद्र (I4C) पहल का हिस्सा है। CyPAD दिल्ली पुलिस की साइबर अपराध इकाई है।

साइबर रोकथाम, जागरूकता व खोज केंद्र (CyPAD)

साइबर रोकथाम, जागरूकता व खोज केंद्र (CyPAD) नागरिकों, पुलिस इकाइयों तथा दिल्ली के एजेंसियों को फॉरेंसिक, साइबर सुरक्षा तथा सुरक्षा सम्बन्धी सेवाएं उपलब्ध करवाएगा। यह केंद्र क्रिप्टोकरेंसी फ्रॉड, तकनीक से सम्बंधित अंतर्राष्ट्रीय धोखाधड़ी तथा साइबर सुरक्षा से सम्बंधित पहलुओं पर कार्य करेगा।

राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला

राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अधीन भारतीय साइबर अपराध सहयोग केंद्र (I4C) पहल का हिस्सा है। राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला मेमोरी फॉरेंसिक लैब, इमेज एनहांसमेंट लैब, नेटवर्क फोरेंसिक लैब, मैलवेयर लैब, क्रिप्टोकरेंसी फॉरेंसिक लैब, डैमेजड हार्ड डिस्क तथा एडवांस्ड मोबाइल फॉरेंसिक लैब इत्यादि इकाईयां हैं। भारतीय साइबर अपराध सहयोग केंद्र के सात अंग निम्नलिखित हैं :

राष्ट्रीय साइबर अपराध धमकी विश्लेषण इकाई

राष्ट्रीय साइबर अपराध रिपोर्टिंग

साइबर अपराध के लिए संयुक्त पड़ताल दल के लिए प्लेटफार्म

राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला इकोसिस्टम

राष्ट्रीय साइबर अपराध प्रशिक्षण केंद्र

साइबर अपराध इकोसिस्टम प्रबंधन इकाई

राष्ट्रीय साइबर अनुसन्धान व नवोन्मेष केंद्र

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement