राफेल

भारत ने फ्रांस से मिटियोर मिसाइल की डिलीवरी शीघ्र करने की मांग की

भारत ने फ्रांस से मिटियोर मिसाइल की डिलीवरी शीघ्र करने की मांग की है। इन मिसाइलों के द्वारा भारत पाकिस्तानी वायुसेना को अमेरिका द्वारा प्रदान की गयी AMRAAM मिसाइलों का मुकाबला दक्षता से कर सकेगा।

इन मिसाइलों की डिलीवरी भारत को 2020 में होनी है, परन्तु भारत इन मिसाइलों की शीघ्र डिलीवरी के लिए मांग कर रहा है। भारत पहले राफेल लड़ाकू विमानों के लिए कम से कम 10 मिटियोर मिसाइलों की एडवांस डिलीवरी की मागं कर रहा है। भारत को मई, 2020 तक राफेल जेट की पहली खेप मिल जायेगी।

मिटियोर मिसाइल

यह हवा से हवा में मार कर सकने वाली मिसाइल है, इसकी रेंज 150 किलोमीटर है। भारत इन मिसाइलों का उपयोग राफेल लड़ाकू विमाओं का साथ करेगा। भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव के कारण भारत इन मिसाइल की डिलीवरी शीघ्र चाहता है।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , , ,

रोर ऑफ़ द सी नौसैनिक अभ्यास का समापन हुआ

भारत और क़तर के बीच जायर-अल-बाहर (रोर ऑफ़ द सी) नामक अभ्यास का आयोजन  17 नवम्बर से 21 नवम्बर, 2019 के दौरान किया गया। इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच इंटरओपेराबिलिटी को बढ़ावा देना है।

मुख्य बिंदु

  • इस अभ्यास में भारत की ओर से मिसाइल स्टेल्थ फ्रिगेट आईएनएस त्रिकंड तथा पट्रोल एयरक्राफ्ट P8-I हिस्सा लिया।
  • इस अभ्यास का आयोजन पहली बार किया गया।
  • इस अभ्यास में हवाई सुरक्षा, सतही कार्यवाही, समुद्री निगरानी तथा आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन के लिए अभ्यास किया गया।
  • क़तर की नौसेना की ओर से इस अभ्यास में एंटी शिप मिसाइल से लेस बर्ज़ान क्लास फ़ास्ट अटैक क्राफ्ट तथा राफेल एयरक्राफ्ट शामिल हुए।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement