राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के उपयोग पर एडवाइजरी को संशोधित किया गया

23 मई, 2020 को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने HCQ (हाइड्रोक्सीक्लोरोलाइन) के उपयोग पर अपनी एडवाइजरी को संशोधित किया है। नए दिशानिर्देशों के तहत, एचसीक्यू केवल एक पंजीकृत चिकित्सक के पर्चे पर ही दी जानी चाहिए।

मुख्य बिंदु

संयुक्त निगरानी समूह ने अपनी बैठक आयोजित करने के बाद यह एडवाइजरी जारी की थी। बैठक में ICMR, NCDC (राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र), WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भाग लिया।

नई एडवाइजरी

नई एडवाइजरी में निम्नलिखित दिशानिर्देश शामिल हैं :

  • सलाहकार ने तीन नई श्रेणियों को शामिल किया है जिन्हें एचसीक्यू को रोगनिरोधी उपचार के रूप में निर्धारित किया जाएगा। वे इस प्रकार हैं :
  • गैर-COVID अस्पतालों में काम करने वाले स्पर्शोन्मुख स्वास्थ्य कर्मी
  • फ्रंटलाइन वर्कर्स जिनमें कन्टेनमेंट जोन में कार्यरत कर्मी शामिल हैं
  • पैरामिलिट्री और पुलिस के जवान
  • HCQ के इन-विट्रो परीक्षण में COVID-19 की संक्रामकता में कमी देखी गई है।
  • 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए यह दवा निर्धारित नहीं है।
  • उच्च जोखिम वाली आबादी पर एचसीक्यू के उपयोग को भी संशोधित किया गया है।
  • यह दवा केवल एक चिकित्सक के पर्चे के माध्यम से प्रदान की जाएगी। प्रारंभ में दवा के उपयोग को बिना प्रिस्क्रिप्शन के स्पर्शोन्मुख रोगियों में करने की अनुमति थी।

यह संशोधन क्यों किया गया?

रोगनिरोधी उपचार के रूप में एचसीक्यू के उपयोग के आकलन डाटा से निम्नलिखित निष्कर्ष प्राप्त हुए :

  • लगभग 1,323 स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों को हल्के प्रतिकूल प्रभावों का सामना करना पड़ा
  •  कुछ लोगों को मतली, उल्टी, पेट में दर्द का सामना करना पड़ा।
  • कुछ अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता ने कार्डियो-वैस्कुलर प्रभावों का भी सामना किया

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

NDRF का 15वां स्थापना दिवस मनाया गया

नई दिल्ली में हाल ही में NDRF का 15वां स्थापना दिवस मनाया गया, इस दिवस पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले NDRF जवानों को सम्मानित किया गया। NDRF की स्थापना वर्ष 2006 में की गयी थी, अब तक NDRF ने एक लाख से अधिक लोगों के जीवन की रक्षा की है, जबकि सात लोगों को सुरक्षित घर पहुँचाया है। अब तक NDRF ने लगभग 3000 ऑपरेशन किये हैं।

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF)

NDRF आपदा के समय त्वरित क्रिया करने वाला बल है, इसकी स्थापना वर्ष 2006 में आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के अंतर्गत की गयी थी। NDRF का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। यह केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करता है। NDRF के लिए नीति, योजना तथा दिशानिर्देश का निर्माण राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) द्वारा किया जाता है।

NDRF प्राकृतिक आपदा, मानव निर्मित आपदा, दुर्घटना अथवा आपातकाल के दौरान राहत व बचाव कार्य करता है। इस दौरान जान-माल की रक्षा के लिए NDRF स्थानीय एजेंसियों के साथ मिलकर कार्य करता है। वर्तमान में NDRF की 12 बटालियन देश के अलग-अलग हिस्सों में नियुक्त की गयी हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement